fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

उत्तर प्रदेश में पुलिसकर्मियों ने बांधी काली पट्टी, डीजीपी द्वारा जारी निर्देश और अपील भी हुई बेअसर

up-police-protest

हाल ही में हुए एप्पल मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड के मामले में दो सिपाहियों को हो हिरासत में लेने के बाद, उनके सहयोगी सिपाहियों के समर्थन में आ गए है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के आदेश पर इस मामले पर सिपाहियों को हिरासत में ले लिया गया था। यह मामला अभी भी थमने का नाम नहीं ले रहा सिपाही प्रशांत चौधरी व संदीप कुमार के हिरासत में लिए जाने के बाद उनके सहयोगी उनके समर्थन में उतर आये।

Advertisement

police protest up

प्रदेश में सिपाही बाजुओं पर काला फीता बाँध कर काम करते दिखे। डीजीपी ओपी सिंह की अपील और निर्देश के बाद दो सिपाहियों बर्खास्त कर गिरफ्तार भी किया गया है। इन दोनों ने शनिवार को इलाहाबाद में बैठक करने का कार्यक्रम तय किया था। पर अभी भी कई स्थानो पर सिपाही फीता बांध कर काम करते दिखे।

प्रदेश के कई इलाको जैसे लखनऊ में भी गुडंबा, अलीगंज और नाका पुलिस स्टेशन में सिपाही काली पट्टी बांध कर ड्यूटी पर आये।  मुख्य आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी तथा संदीप कुमार के पक्ष में प्रदेश में सहयोगी पुलिस एक ऐसा माहौल तैयार कर रहे है जिससे आगे जाकरजांच और करवाई में बाधा उत्त्पन्न हो सकती है ।

UP police protest


यहाँ तक की सहयोगी पुलिसकर्मी काली पट्टी के साथ फोटो खींच सोशल मीडिया पर डाल रहे है यह फोटो काफी तेज़ी से वायरल हो रही है। पुलिसकर्मियों के कुछ संगठनों ने पांच अक्टूबर को काला दिवस मनाने की मुहिम सोशल मीडिया पर शुरू की थी। जिसका असर राजधानी में देखने को भी मिला जहा दो सिपाहियों को बर्खास्त कर गिरफ्तार भी किया गया था।

डीजीपी ओपी सिंह यह साफ़ कर दिया है वैसे तो अब प्रदेश में कही भी विरोध की स्थिति नहीं है हमारे सभी सिपाही खुश है हमारा कोई भी पुलिसकर्मी कोई गैरकानूनी काम नहीं करेगा और न ही होने देगा सिपाहियों का मनोबल काफी ऊँचा है और मुझे अपने सभी जवानो पर पूरा भरोसा है यदि आगे किसी पुलिसकर्मी के ऐसे किसी भी प्रदर्शन में सम्मिलित होने पर उसके खिलाफ सख्त करवाई करी जाएगी।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

0
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved