ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

योगीराज में खाकी की गुंडई: बुजुर्ग को बेरहमी से पीटा, सड़क पर घसीटा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश  की योगी सरकार में कानून के रक्षक ही भक्षक की भूमिका में नजर आ रहे हैं। ताजा मामला लखनऊ जंक्शन का है। यहां जीआरपी के एक सिपाही ने बुजुर्ग रिक्शाचालक मदन शाह को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। सिपाही यहीं नहीं रुका बल्कि रिक्शेवाले को घसीटते हुए चौकी तक ले गया।  जीआरपी जहां जाम हटवाने के दौरान बुजुर्ग को पीटने का मामला बता रही है। वहीं, यात्रियों व रिक्शेवालों ने बताया कि वसूली के विरोध पर रिक्शेवाले को पीटा गया है। मामला मुख्यमंत्री दफ्तर पहुंचा तो आनन-फानन में जीआरपी अधिकारियों ने आरोपी सिपाही विश्वजीत को सस्पेंड कर दिया।
लखनऊ जंक्शन पर अवैध वेंडरों का कारोबार जीआरपी की शह पर फलता-फूलता है। इसके चलते स्टेशन के बाहर अक्सर जाम लग जाता है। स्टेशन पर ही जीआरपी चौकी है, जिसके इंचार्ज अमर सिंह हैं। शुक्रवार दोपहर स्टेशन पर लगे जाम को हटाने के लिए सिपाही विश्वजीत पहुंचा। इस दौरान अचानक  उसका गुस्सा बुजुर्ग रिक्शेवाले मदन शाह पर फूट पड़ा। सिपाही ने रिक्शेवाले पर डंडे बरसाने शुरू कर दिए। उसे दौड़ा-दौड़ाकर पीटा।
इसके बाद घसीटते हुए चौकी तक ले गया। यहां भी रिक्शेवाला रहम की भीख मांगता रहा, लेकिन जीआरपी अधिकारियों ने एक न सुनी। इसके थोड़ी देर बाद रिक्शेवाले की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।
ट्विटर के जरिए प्रकरण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यालय तक पहुंचा तो पुलिस के आला अधिकारी सकते में आ गए। आनन-फानन में सिपाही को बुलाया और उसे लाइनहाजिर कर दिया।

 

टिकट लेने के लिए स्टेशन पहुंचे यात्री अनिल तिवारी ने कहा कि जीआरपी इंचार्ज अमर सिंह की शह पर स्टेशन पर वसूली चलती है। अवैध वैंडरिंग होती है, इससे जाम लगता है। शुक्रवार को सिपाही ने बेतहाशा बुजुर्ग रिक्शेवाले को पीटा। पैसेंजर अनुभव सिंह ने कहा कि जीआरपी पुलिस वसूली में लगी रहती है।

 

लखनऊ जंक्शन पर यात्रियों के इंतजार में खड़े रिक्शेवालों ने आरोप लगाया है कि जीआरपी प्रभारी अमर सिंह के नेतृत्व में रोजाना वसूली होती है। सिपाही पचास से लेकर सौ रुपये तक वसूलते हैं। रिक्शा चालक अब्दुल ने बताया कि वसूली के अलावा सवारी करते हैं और किराया भी नहीं देते। रिक्शा चालक सुजान सिंह ने कहा कि कभी कभार पैसे नहीं देने पर रिक्शा तोड़ देते हैं।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved