fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

लखनऊ एनकाउंटर पर योगी के मंत्री के विवादित बोल, कहा- ‘क्रिमिनल को ही लग रही है गोली’

यूपी की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर में शनिवार( 29 सितंबर ) देर रात 1.30 बजे मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास दो पुलिस वालो ने एसयूवी में सवार ‘एप्पल’ के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मार दी थी। पुलिस ने बिना अपराध एप्पल कंपनी  एरिया मैनेजर की हत्या कर दी थी। लेकिन इस हत्या पर यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्री ने कथित तौर पर विवादित बयान दे दिया है। मंत्री ने कहा की पुलिस की गोली उन्हें ही लग रही है जो अपराधी है।

Advertisement
https://www.youtube.com/watch?v=1eJXXWsY3d4

Source: ANI

यूपी सरकार के सिचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा ,”एनकाउंटर में ऐसी कोई गलती नहीं हुई है। उसी को गोली लग रही है जो वास्तव में अपराधी है। समाजवादी सरकार में जो गुंडाराज था,  माफियाराज था, वही तीन-तड़ाम कर रहे है। बाकी सब ठीक है, अपराधी पर कोई समझौता नहीं किया जा रहा है। ”

वही योगी में मंत्री यही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा की देश का और प्रदेश का सौभाग्य है। खासतौर पर बनारस का सौभाग्य है की नरेन्द्र मोदी जी यहाँ के सांसद है। जहा से राजाओ का राज समाप्त होता है वहा से योगी राज पारंभ होता है। न्याय सबको, तुस्टीकरण किसी को नहीं। जो गलती करेगा उसे दंड मिलेगा। किसी भी हाल में किसी को बख्सा नहीं जायेगा। ”


गौर करने की बात ये है की लखनऊ के गोमतीनगर में शनिवार( 29 सितंबर ) देर रात 1.30 बजे मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास दो  पुलिस वालो ने एसयूवी में सवार ‘एप्पल’ के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मार दी थी। गोली लगते ही उसका संतुलन बिगड़ा और वाहन डिवाइडर से टकरा गया। वही सर पर गोली लगने से विवेक की मौके पर ही मौत हो गई। यह देखते ही दोनों आरोपी सिपाही मौके से भाग निकले।

बाद में वहा पर आये दूसरे पुलिसकर्मियों ने विवेक को अस्पताल पहुंचाया, जहा डॉक्टर्स ने विवेक को मृत घोसित कर दिया। हादसे के वक्त तिवारी के साथ रही सना की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर गोलीबारी करने वाले कांस्टेबल प्रशांत कुमार और संदीप को गिरफ्तार कर लिया है।

हालाँकि गोरखपुर में पत्रकारों से बातचीत में योगी आदित्यनाथ ने बताया की ‘लखनऊ में ऐसा कोई एनकाउंटर नहीं हुआ है’ इस पुरे मामले को लेकर डीजीपी को निर्देश दिया गया है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।” वही उत्तरप्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओम प्रकाश सिंह ने कहा , “दोनों पुलिसकर्मियों ने गलती की है. इशलिये उनके खिलाफ धरा 302 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई है. उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्हें जल्द ही जेल भेजा जायेगा। ” डीजीपी ने कहा की उन दोनों पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर  दिया गया है।

वही मृतक विवेक तिवारी के घरवालों ने मुख्यमंत्री से मिलने की मांग को लेकर धरना शुरू कर दिया है। वही तिवारी की पत्नी ने कहा कि वह खुद मुख्यमंत्री योगी से मिलना चाहती है।  उन्होंने कहा, ” उत्तरप्रदेश की पुलिस इस तरह किसी की हत्या कैसे कर सकती है। ” उन्होंने कहा की जब तक मुख्यमंत्री मिलने नहीं आते तब तक विवेक तिवारी का अंतिम संस्कार नहीं क्या जायेगा। वही परिजनों ने एक करोड़ रूपये और विवेक तिवारी की पत्नी को सरकारी नौकरी दिए जाने और पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग उठाई है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

0
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved