ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

जनेऊधारी जेलर के निर्देश पर चंद्रशेखर आजाद पर हुआ जानलेवा हमला- भीम आर्मी

नई दिल्ली। सहारनपुर में भड़की जातीय हिंसा मामले में भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को 8 जून को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें सहारनपुर जेल में बंद किया गया है। इसी बीच खबर आई थी जेल में चंद्रशेखर रावण पर जानलेवा हमला हुआ था। चंद्रशेखर के साथ-साथ संगठन के जिलाध्यक्ष कमल वालिया पर भी हमला हुआ। उनके बैरक में भी तोड़फोड़ की गई।

खास बातें-

  1. भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर रावण पर जेल में हुआ था हमला
  2. संगठन के जिलाध्यक्ष कमल वालिया पर भी हुआ था जानलेवा हमला
  3. संगठन कार्यकर्ताओं ने जेल प्रशासन पर लगाया हमले का आरोप
  4. कार्यकर्ताओं के अनुसार ब्राह्मण जेलर करवाना चाहता है चंद्रशेखर की हत्या

हमले के विरोध में भीम आर्मी के सदस्यों ने जिला मुख्यालय में प्रदर्शन कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। भीम आर्मी के संरक्षक जय भगवान जाटव ने कहा कि चंद्रशेखर आजाद पर जेल में जानलेवा हमला हुआ है। चंद्रशेखर की बैरक से उनके निजी सामान की चोरी भी हुई है।

पढ़ें- जेल में सुरक्षित नहीं भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद, जानलेवा हमला

गुरुवार को भीम आर्मी भारत एकता मिशन के सैकड़ों कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट में जमा हुए, जहां उन्होंने जेल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्होंने डीएम और एसएसपी को चंद्रशेखर आजाद और कमल वालिया पर हुए जानलेवा हमले के बारे में सूचित किया। सदस्यों का आरोप है कि यह सब ब्राह्मण जेलर के इशारे पर हुआ है।

http://www.youtube.com/watch?v=k_fhjgeu-2w#t=2s

कार्यकर्ताओं का आरोप है कि जेल में ही भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष कमल वालिया का भी उत्पीड़न हो रहा है। ब्राह्मण जेलर के निर्देश पर भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं पर जातिगत अत्याचार किया जा रहा है। प्रदर्शन के दौरान कमल वालिया की मां भी वहां मौजूद रहीं। कार्यकर्ताओं ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए जिला प्रशासन को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। ऐसा न होने की दशा में उन्होंने दलित समाज द्वारा आंदोलन छेड़ने की चेतावनी दी।

पढ़ें- चंद्रशेखर ‘रावण’ की रिहाई के लिए नीला हुआ दिल्ली का जंतर-मंतर

भीम आर्मी के सक्रिय कार्यकर्ता महक सिंह ने कहा कि, ‘भीम आर्मी भारत एकता मिशन के कार्यकर्ता इस सूचना से काफी आहत महसूस कर रहे हैं। हमने डीएम और एसएसपी को चंद्रशेखर आजाद पर हुए जानलेवा हमले के बारे में सूचित किया है और दोषियों पर समुचित कार्रवाई की मांग की है।’ महक ने कहा कि यह सब जेल प्रशासन के इशारे पर हुआ है। उन्होंने प्रशासन से इस मामले की निष्पक्ष जांच और दोषियों पर आवश्यक कार्रवाई की मांग की।

(संपादन- भवेंद्र प्रकाश)

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved