fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

केंद्रीय मंत्री गोहेन समेत 6 भाजपा नेताओं के खिलाफ एफआईआर, तिनसुकिया हत्याकांड पर भड़काऊ बयान देने का आरोप

Rajen Gohain
(Image Credits: Time8)

असम में केंद्रीय मंत्री राजेन गोहेन और पांच अन्य नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। उनके खिलाफ तिनसुकिया हत्याकांड पर दो समुदाय के बीच तनाव पैदा करने वाला भड़काऊ बयान देने का आरोप है। पूर्ववर्ती उल्फा-यूनाइटेड मंच के महासचिव इनामुल हक लश्कर ने सिलचर सदर थाने में इसकी एफआईआर दर्ज कराई है।

Advertisement

दर्ज किये गए एफआईआर में केंद्रीय रेल राज्यमंत्री गोहेन के आलावा विधायक शिलादित्य देव, प्रदीप दत्ता पार्टी नेता, कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव, पार्टी के विधायक चंदन सरकार कामालख्य डे और पुरकायस्थ पर भड़काऊ बयान देने का आरोप लगाया गया है। हालाँकि इस एफआईआर में यह नहीं बताया गया की इन लोगों के द्वारा किस तरह का भड़काऊ बयान दिया है।

तिनसुकिया हत्याकांड मामला

असम के तिनसुकिया जिले में 1 नवंबर बृहस्पतिवार रात को संदिग्ध उल्फा उग्रवादियों द्वारा पांच बंगालियों की हत्या कर दी गई थी। जिसके विरोध में असम के विभिन्न संगठनों की अपील पर शनिवार को 24 घंटे के लिए असम में बंद का ऐलान किया गया था। जिसके वजह से शनिवार को राज्य में सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा था ।

गुवाहाटी में तो बंद का प्रभाव नहीं देखने को मिला। लेकिन बराक घाटी के जहाँ बांग्लाभाषी बहुल इलाके है, वहाँ पर इसका काफी असर देखने को मिला था। तिनसुकिया और डिब्रूगढ़ जिलों को इस बंद के दायरे से बाहर रखा गया था। इन दोनों इलाकों में शुक्रवार को ही 12 घंटे का बंद रखा गया था।


तिनसुकिया हत्याकांड के मामले में उल्फा के एक संदिग्ध लिंकमैन को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस का कहना है की, उल्फा का परेश बरुआ गुट ही इन हत्याओं के लिए जिम्मेदार है। हालांकि इस संगठन ने इस आरोप का खंडन कर दिया था।

ममता बनर्जी का तिनसुकिया हत्याकांड पर प्रतिक्रिया

तिनसुकिया हत्याकांड पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा उसी रात ट्वीट किया गया। जिसमे उन्होनें बताया था की असम से बेहद खराब खबर आ रही है। उन्होनें इस घटना की कड़ी निंदा भी की थी। और उन्होनें लिखा, हमारे पास पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं। और उन्होनें कहा की दोषिओं को शीघ्र सजा मिलनी चाहिए।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved