fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

हंसदेवाचार्य : अगर बहन-बेटी बचानी है, जीवित रहना है और मठ-मंदिर बचाना है तो 2019 में मोदी सरकार को लायें

saints
(Image Credits: Firstpost Hindi)

अखिल भारत संत परिवार समिति ने रविवार को कहा की अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए संसद में कानून बनाना चाहिए। इसके साथ उन्होनें साधुओं अनुयायियों से अपील किया कि वे सुनिश्चित करें कि 2019 में नरेंद्र मोदी की सरकार सत्ता में वापसी करें। उन्होनें लोगो से कहा की 2019 में उनको वोट करना चाहिए जो गंगा, गाय, गायत्री में और गोविन्द में आस्था रखतें हो।

Advertisement

संत समिति ने कहा  की 25 नवंबर को अयोध्या, नागपुर और बेंगलुरु में तीन और ‘धर्मसभाएं’ आयोजित करेंगें। इसके साथ साथ 9 दिसबर को दिल्ली में बड़ी तदाद में साधु एकत्रित होंगें। उनके अनुसार 18 दिसंबर के बाद से पूरे देश में 500 से भी ज्यादा ऐसी बैठकें की जाएंगी।

अलग अलग मुद्दों पर संतों के ‘धर्मादेश’ को पढ़ते हुए समिति के मुख्य हंसदेवाचार्य ने कहा, ‘अगर जीवित रहना है, मठ-मंदिर बचाना है, बहन-बेटी बचानी है, संस्कृति और संस्कार बचाना है तो इस सरकार को दोबारा से लाना है।’ संतों को इस सरकार पर भरोसा है कि वही उस इच्छा को पूरी कर सकती है, जो कोई दूसरी सरकार नहीं कर सकती। संतों के मुताबिक, ‘सिर्फ यही सरकार हमारी उम्मीदें पूरी कर सकती है। अपना देश भी बचाओ, अपनी संस्कृति भी बचाओ और फिर से इस भारत के अंदर इसी सरकार को 2019 में वापस लाओ, लाओ… जय श्री राम।’

हंसदेवाचार्य ने कहा की राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ होने में देरी होने के कारण सभी संतो को इससे आहत पहुंची है, फिर उन्होनें कहा ,  ‘लेकिन हम केंद्र सरकार के देश, धर्म, संस्कृति, राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रीय अस्मिता से जुड़े कामों से संतुष्ट हैं।’

पुणे के संत गोविंद गिरी ने कहा कि कुछ ताकतों द्वारा सरकार को ‘अस्थिर’ करने की प्रयास किया जा रहा है। और मध्य प्रदेश में सरकार के खिलाफ एक ‘साजिश’ भी रची गई थी। इनके गोविंद गिरी कहते हैं क़ी, ‘भविष्य की योजना बनाते वक्त हमें यह ध्यान में रखना चाहिए कि किसी भी हालत में हमारी केंद्र सरकार अस्थिर नहीं होनी चाहिए।’


संत गोविंद गिरी के मुताबिक संत चाहते है की 2019 में भाजपा एक बार फिर सत्ता में आये। बता दें कि तीर्थयात्राओं को बढ़ावा देने के लिए ‘तीर्थाटन संतों ने मंत्रालय’ बनाए जाने की मांग की। बाद में साधुओं ने कहा की यह भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए की तीर्थाटन वाले स्थान टूरिस्ट प्लेस में न बदल जाए। उन्होंने गायों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ‘गौ मंत्रालय’ का निर्माण करने की मांग करी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved