ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

UP: दलित युवक की बारात चढ़ाने के लिए जिला प्रशासन ने जारी किया नया रूट

कासगंज: उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले के निजामपुर गाव में दलित युवक संजय जाटव की बारात चढ़ाने को लेकर चल रहे विवाद में दोनों पक्षों यानी ठाकुरों और दलितों के बीच जिला प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद समझौता हो गया. समझौते के अनुसार गांव निजामपुर के बाहर कुतुबपुर को जाने वाले मुख्य मार्ग पर धर्मवीर निवासी निजामपुर के खेत में बारात का जनवासा रहेगा. बता दें कि हाथरस निवासी दलित युवक संजय जाटव अपनी शादी में बारात निकालना चाहता है लेकिन इलाके के ठाकुर पक्ष इसका विरोध कर रहे हैं.

गौरतलब है कि जिला प्रशासन ने दोनों पक्षों की सहमति के साथ बारात निकालने के लिए नया रूट जारी कर दिया है. अब संजय जाटव की बारात जनमासा से प्रस्थान कर कुतुबपुर निजामपुर रोड से गावनिजपुर के तिराहा पहुंचेगी और वहां से प्राइमरी पाठशाला के सामने से गली से होते हुए श्री महेश चौहान आदि के घर के सामने से गली में होकर सुरेंद्र चौहान के घर के पास से पश्चिम दिशा में सत्यपाल सिंह के घर तक जाएगी.

गांव में जिस गली से बारात चढ़ना प्रस्तावित है वह गली काफी संकरी है जिस वजह से बारात में जाने वाले अपनी स्वेच्छा से ऐसे वाहन/साधन का प्रयोग करें जो आसानी से उक्त गली में से गुजर सके. समस्त ग्रामीण आपसी सौहार्द बनाते हुए बारात से पूर्व व बाद में गांव में शांति व्यवस्था बनाए रखेंगे.

वहीं जिले में धारा 144 लागू है जिस वजह से बारात में कोई भी व्यक्ति ध्वनि विस्तारक यंत्र से ऐसी भाषा/शब्द एवं अन्य कार्य नही करेगा जिससे शांति व्यवस्था भंग होने की आशंका हो.

बताते चलें कि हाथरस जिले के निवासी दलित युवक संजय कुमार की शादी में विवाद से जूझ रही थी. संजय की होने वाली पत्नी कासगंज के निजामाबाद की रहने वाली हैं, जोकि एक ठाकुर बहुल गांव है. ऐसे में संजय चाहते थे कि उनकी बारात गांव से होकर निकले लेकिन ठाकुर समुदाय इसका विरोध कर रहा था.

संजय ने इस बाबत में पुलिस से भी मदद मांगी थी लेकिन वहां से मदद न मिलने पर दलित युवक ने हाईकोर्ट में भी मदद की गुहार लगाई थी. हालांकि हाईकोर्ट ने दूल्हे की अर्जी को हाईकोर्ट ने निस्तारित करते हुए कहा था कि यह कानून व्यवस्था का मामला है. कोर्ट ने कहा था कि दूल्हा स्थानीय पुलिस या न्यायालय में अपना मुकदमा दर्ज कराए.

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved