fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

अब आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को देना होगा संशोधित हलफनामा: चुनाव आयोग

election-commision
(Image Credits: Prameyanews7)

चुनाव आयोग ने आपराधिक पृष्ठभूमि वाले लोगों पर विशेष ध्यान देनें का विचार कर लिया है। इसके लिए चुनाव आयोग ने उच्चतम न्यायालय के आदेश का अनुपालन करते हुए उम्मीदवारों के लिये संशोधित हलफनामे का प्रारूप जारी कर दिया है। चुनाव आयोग द्वारा संशोधित हलफनामे के अनुसार सभी उम्मीदवार को हलफनामें के साथ दो फॉर्म भरकर देनें होंगें।

Advertisement

इस फॉर्म में उम्मीद्वार को बताना होगा कि जितने भी अपराध उस पर लंबित है, उन सभी की जानकारी को विभिन्न मीडिया माध्यमों से उसने सार्वजानिक कर दिया है। उम्मीदवार के उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी सार्वजानिक करने के मामलें में उससे सबंधित राजनीतिक दल को भी शामिल किया गया है।

केन्द्रीय विधि मंत्रालय की अनुशंसा के आधार पर चुनाव आयोग द्वारा संशोधित हलफनामे के माध्यम से उम्मीदवार को इसकी जानकारी सार्वजनिक करनी होगी कि, उसके खिलाफ कितने आपराधिक मामले लंबित हैं। और उसे किन -किन मामलों में दोषी ठहराया गया है।

इस हलफनामे को आपराधिक मामलों में लंबित उम्मीदवार के राजनीतिक दल को भी देना होगा। हलफनामें में राजनीतिक दल को बताना होगा की उसके उम्मीदवार ने उसपर आपराधिक मामलों की जानकारी को सभी मीडिया के माध्यम से मतदाताओं से सार्वजानिक कर दी है।

राजनीतिक दलों को चुनाव के 48 घंटों से पहले प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कम से कम 3 बार अलग अलग दिन इसके विवरण का प्रकाशन करना अनिवार्य है। इसके साथ राजनीतिक दलों को उम्मीदवारों की जानकारी अपने वेबसाइट पर देनी होगी।


चुनाव आयोग ने इसके लिये हलफनामे से सम्बंधित फॉर्म 26 में संशोधन कर सभी राज्य निर्वाचन कार्यालयों को और राजनीतिक दलों को व्यवस्था में बदलाव के बारे में जानकारी दे दी है। इस बदले हुए व्यवस्था का पालन अगले महीने से पांच राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव से ही शुरु कर दिया जायेगा।

बता दें की सुप्रीम कोर्ट ने 25 सितम्बर को अपने एक फैसले में आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों के लिए संज्ञान लिया था। सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने से रोकने के लिए नामांकन प्रक्रिया में सुधार करने को कहा था। चुनाव आयोग द्वारा संशोधित प्रक्रिया में फॉर्म 26 में एक एक कॉलम जोड़ा गया है, जिसमें उम्मीदवार को उसके आपराधिक मामलों की विस्तृत जानकारी देनी होगी।

इसमें 2 नये फॉर्म जोड़े गए है,फॉर्म सी1 और सी 2 है। फॉर्म सी1 में उम्मीदवार का नाम, वह किस राजनीतिक दल से है, उसका निर्वाचन क्षेत्र और उस पर लंबित और निपटायें गए आपराधिक मामलों की जानकारी देनी होगी। फॉर्म सी2 में उम्मीदवार के राजनीतिक दल को उम्मीदवार के आपराधिक पृष्ठभूमि के बारें में बताना होगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved