ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

NIA को लोग पिंजड़े में बंद तोता कहते हैं, लेकिन मैं गूंगा और बहरा कहूंगा: असदुद्दीन ओवैसी

एआईएमआईएम के चीफ असद्दुदीन ओवैसी ने एक बार फिर मक्का मस्जिद धमाके मामले में असीमानंद समेत सभी आरोपियों के बरी होने पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी पर निशाना साधा है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गुरुवार को एक रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि लोग एनआईए को पिंजड़े में बंद तोता कहते हैं। लेकिन मैं इसे गूंगा और बहरा ही कहूंगा।

ओवैसी ने आगे कहा कि अगर पीड़ितों के परिजनों में से कोई भी एनआई की विसेष अदालत के इस फैसले को ऊपरी अदालत में चुनौती देना चाहेगा तो उसे जरुरी कानूनी मदद मुहैया कराई जाएगी।

बता दें कि  हैदराबाद की ऐतिहासिक मक्का मस्जिद में 18 मई, 2007 को शुक्रवार के दिन धमाका हुआ था, जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई थी और 58 घायल हो गए थे।

हैदराबाद स्थित एनआईए की विशेष अदालत ने बीते सोमवार को मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में पांचों आरोपितों को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था। अदालत ने यह भी कहा था कि अभियोजन पक्ष संदिग्धों का जुर्म साबित करने में नाकाम रहा है।

इस मामले की शुरुआती जांच के बाद स्थानीय पुलिस ने इस मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दिया था। सीबीआई ने इस मामले में 10 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी, जिनमें पांच की ही गिरफ्तारी हो पाई थी। एक आरोपित की हत्या हो गई थी, जबकि बाकी अभी तक फरार हैं।

इस मामले की जांच अप्रैल 2011 में एनआईए के हाथ में आ गई थी। इसकी सुनवाई के दौरान 226 गवाहों और 411 दस्तावेजों की पड़ताल की गई। लेकिन, सुनवाई के दौरान 2008 के मालेगांव धमाका मामले के आरोपित लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित सहित 64 गवाह बयान से पलट गए थे।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved