ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

संविधान बचाओ आंदोलन की प्रेस रिलीज

सरकार धूर्तता कर रही है और उसकी मुश्किल यह है कि SC, ST, OBC के लोग इस बात को समझने लगे हैं. जिस समय दिल्ली यूनिवर्सिटी समेत देश के तमाम शहरों में 20 अप्रैल को संविधान बचाओ आंदोलन चल रहा था, और कुछ वकील, शिक्षक, पत्रकार, शोध छात्र केंद्र सरकार के मंत्रालयों के सामने संविधान और मंडल कमीशन की कॉपी हाथ में लेकर संविधान और आरक्षण बचाओ की मांग कर रहे थे. उसी समय केंद्र सरकार ने एक नोटिफिकेशन यूजीसी यानी यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन के मार्फत जारी करवाया.

उस नोटिफिकेशन को देश के तमाम केंद्रीय और राज्य सरकारों के विश्वविद्यालयों और डीम्ड यूनिवर्सिटीज को भेजा गया. इसका मकसद सिर्फ भ्रम फैलाना है.

उस नोटिफिकेशन में क्या है?

1. इसमें सबसे पहले तो यह सूचना है कि केंद्र सरकार ने 5 मार्च, 2018 को अपनी संस्था यूजीसी से एक नोटिफिकेशन जारी कराके यूनिवर्सिटी और कॉलेज के स्तर पर SC, ST. OBC रिजर्वेशन खत्म कर दिया.

2. इस नोटिफिकेशन के लिए केंद्र सरकार ने 22 फरवरी, 2018 को यूजीसी को लिखा था. ( यानी स्पष्ट है कि रिजर्वेशन खत्म करने का फैसला सीधे केंद्र सरकार ने लिया था.) जावड़ेकर जी, हमें पता है कि आपने क्या किया है.

3. अब देश भर में चल रहे बहुजन आंदोलन के बाद केंद्र सरकार और यूजीसी ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव पिटिशन डाली है. यानी कि वे चाहते हैं कि मामला टलता रहा. सरकार मामला कोर्ट पर डाल रही है, जो इस समय दीपक मिश्रा का मठ बना हुआ है. वहां से तारीख के अलावा कुछ नहीं निकल रही है.

4. इस बीच नई नियुक्तियों पर कोई रोक स्पष्ट तौर पर नहीं लगाई गई है.
5. 20 अप्रैल के यूजीसी के पत्र में कहीं नहीं लिखा है कि नई नियुक्तियों पर रोक है या कि नई नियुक्तियां रिजर्वेशन के पुराने नियमों से होगी.

6. असली बात, यूजीसी और केंद्र सरकार ने 5 मार्च, 2018 का वह नोटिफिकेशन वापस नहीं लिया है, जिसके जरिए यूनिवर्सिटी और कॉलेज के स्तर पर SC, ST, OBC रिजर्वेशन खत्म कर दिया है.

इसलिए मुद्दा अपनी जगह बना हुआ है और इसलिए बहुजनों का आंदोलन भी जारी है.

वे शिक्षा पर कंट्रोल करना चाहते हैं और हम चाहते हैं कि शिक्षा के क्षेत्र में लोकतंत्र स्थापित हो. हर किसी के लिए वहां पढ़ाने और पढ़ने के मौके हों.

Image may contain: text

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved