ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा ने बढ़ाई भाजपा की चिंताएं, थर्ड फ्रंट बनाने की कवायद तेज

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा और भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने शुक्रवार को डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन से मुलाकात कर भाजपा की चिंताएं बढ़ा दी हैं। बता दें कि दोनों नेता केंद्र की मोदी सरकार और प्रधानमंत्री की लंबे समय से आलोचना करते रहे हैं। यशवंत सिन्हा पिछले महीने 21 अप्रैल को भाजपा को छोड़ चुके हैं।

माना जा रहा है कि दोनों वरिष्ठ नेताओं की मुलाकात तीसरे मोर्चे के गठन के उद्देश्य को लेकर हुई है।

दोनों नेता इससे पहले ममता बनर्जी और कई दूसरे नेताओं से भी मुलाकात कर चुके हैं और मजबूत तीसरे मोर्चे के भी हिमायती रहे हैं। तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव भी स्टालिन से तीसरे मोर्चे के गठन को लेकर मुलाकात कर चुके हैं। राव भी लगातार भाजपा के खिलाफ एक मजबूत फ्रंट की कोशिश में हैं।

यशवंत सिन्हा ने 21 अप्रैल को भाजपा छोड़ने के बाद कहा था कि लोकतंत्र खतरे में है और अगर वो अब भी ना बोले तो आने वाली पीढ़ियां उन्हें माफ नहीं करेंगी। उन्होंने खुलकर मोदी की ओलचना की थी।

वहीं शत्रुघ्न सिन्हा मोदी विरोधी हर एक नेता की जमकर तारीफ करते रहे हैं, चाहे वो केजरीवाल हो या तेजस्वी यादव।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved