fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  

पीरियड्स की समस्या पर लेखिका अनुराधा सरोज का जबरदस्त लेख.. जरूर पढ़ें

विमर्श
1 year ago

मुझे जब पीरियड्स शुरू हुए तो मेरी माँ ने मुझे पहले नहीं बताया था। जाने उन्हें कैसा संकोच था? मेरे लिए वो दुःख और परेशानी लेके आये थे, जैसे मैंने कोई बड़ा पाप कर दिया हो। मुझे याद है, मैं उस दिन भगवान की मूर्ति के आगे खूब रोई थी और मुझे फिर कभी पीरियड्स ना हों इसकी दुआ मांगी […]

मोदी ने शौच करती महिलाओं की फोटो लेने वाली ‘हत्यारी भीड़’ खड़ी कर दी

विमर्श
1 year ago

राजस्थान में सीपीआई-एमएल कार्यकर्ता जफर हुसैन को सरकारी कर्मचारियों ने इसलिए पीटकर मार डाला क्योंकि वो शौच कर कर रही महिलाओं का फोटो खींचने से मना कर रहे थे। वे महिलाएं जिस कच्ची बस्ती से आती हैं, वहां शौचालय न होने के बाबत वे पहले भी शिकायत कर चुके थे। यदि आपको यह बात अविश्वसनीय लग रही हो कि सरकारी […]

दिलीप मंडल के बीस सवाल, जो नरेंद्र मोदी से नहीं पूछता सेल्फी मीडिया

विमर्श
1 year ago

बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले अपने घोषणापत्र में भारत की जनता से कुछ वादे किए थे, जिन्हें पांच साल में पूरा किया जाना था। बीजेपी ने यह भी कहा था कि जो कहते हैं, वह करते हैं। बीजेपी ने जो कहा था, और नहीं किया, उससे संबंधित कुछ सवाल। ये सारे सवाल बीजेपी के 2014 लोकसभा चुनाव […]

और नेताजी के खाने के बाद दलित धन्य हो गया

विमर्श
1 year ago

नेताजी दलित के घर भोजन करने गए। उन्होंने अपनी एक करोड़ की कार को दलित के घर के सामने रोक दिया। और फिर उनकी गाड़ी के पीछे जो पचास – पचास लाख की गाड़ियां थी वे भी रुक गयीं। दलित घर के बाहर खड़ा था। उसके पैर कांप रहे थे। उसका दिल धड़क रहा था। उसकी गर्दन झुकी हुई थी। […]

यूजीसी के इस फैसले से बदल जाएगा भारत में उच्च शिक्षा का परिदृश्य

विमर्श
1 year ago

‘नीयत’ यानी इंटेंशन अगर सही नहीं हो तो भारतीय दर्शन परंपरा में महिमामंडित ‘न्याय’ और ‘नीति’ का समागम भी समतामूलक आदर्श समाज की संरचना नहीं कर सकता। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने ‘राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट)’ में एससी, एसटी, ओबीसी व विकलांग वर्ग को दिये जाने वाले आरक्षण के नियम में भारी बदलाव किया है। नए नियम के अनुसार अब केवल […]

जब सरकार उपवास करने लगे तो विपक्ष को ज्यादा खाना चाहिए

विमर्श
1 year ago

मैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा उपवास पर बैठने के निर्णय का हार्दिक स्वागत करता हूँ। हिंसा के सामने उन्होंने एक अहिंसक कदम उठाया है। आखिर वे मध्य प्रदेश की आत्मा हैं। जो आत्मा बेचैन होगी, वह शासन कैस कर सकती है? पहले कहा जाता था कि जब तोप मुकाबिल हो तो अखबार निकालो। लेकिन मध्य प्रदेश […]

सांप्रदायिकता से जूझने वाला सामाजिक न्याय का योद्धा..

विमर्श
1 year ago

पत्थर तोड़ने वाली भगवतिया देवी, जयनारायण निषाद, ब्रह्मानंद पासवान, आदि को संसद भेजने वाले, खगड़िया स्टेशन पर बीड़ी बनाने वाले विद्यासागर निषाद को मंत्री बनाने वाले एवं बिना डिगे सांप्रदायिकता से जूझने का माद्दा रखने वाले लोकप्रिय व विवादास्पद नेता लालू जी को 70वें जन्मदिन की बधाई व उनके आरोग्यमय जीवन की सद्कामनाएं ! यह तस्वीर है 90 और 91 […]

भाजपाई बादशाह इतने निष्ठुर ना बनें कि किसानों के लिए चंद पल न निकाल पाएं

विमर्श
1 year ago

मध्य प्रदेश के मंदसौर में 6 किसानों को वाजिब माँग उठाने के लिए मौत के घाट उतार दिया गया। मध्यप्रदेश और भाजपा शासित महाराष्ट्र के किसानों की दयनीय स्थिति और व्यथा को इससे भला बेहतर और क्या प्रदर्शित कर सकता है कि वे स्वयं अपनी ही उपज, जिसे किसान अपने सन्तान की तरह खून पसीने से सींचता है, देखभाल करता […]

हमन हैं इश्क मस्ताना लिखने वाले कबीर की आज जयंती है

विमर्श
1 year ago

कबीर उन कुछ लोगों में हैं, जिनके विचारों से मैं प्रभावित हूँ और जिनके क़दमों पर चलने की संभव कोशिश की है। बुद्ध और कबीर सैकड़ों वर्ष पूर्व हुए। एक ढाई हज़ार वर्ष पूर्व और दूसरे छह सौ वर्ष पूर्व। लेकिन दोनों मुझे हमेशा बहुत पास प्रतीत हुए हैं। अपने समय की गुत्थियों को सुलझाने में दोनों सामान रूप से […]

कबीरपंथ से कबीर ही गायब..

विमर्श
1 year ago

करीब छह सौ साल पहले कबीर धरती पर आकर चले गए, उनके विचारों का प्रभाव जबरदस्त हुआ। सामंती समाज था हमारा तब। हिन्दू धर्म में परम्परा से चलते आ रहे जातीय भेदों, अन्धविश्वासों और बाह्याचारों की जकड़न ने सामान्यजनों का जीना दुश्वार कर रखा था, साथ ही, इसका प्रभाव इतना घना कि बाहर से आई मुस्लिम शासक जातियों के साथ […]

किसानों की बदतर हालत पर पत्रकार रीवा सिंह का प्रधानमंत्री मोदी को खुला पत्र…

विमर्श
1 year ago

आदरणीय प्रधानमंत्री जी, आप प्रधानसेवक हैं, देश आपके लिए सर्वोपरि है। 125 करोड़ भुजाओं के बल के साथ आपको अपार शक्ति मिलती है। ऐसी कई बातें आपके भाषण में सुनती आयी हूं। अच्छा लगता था कि आप ऐसे नेता बने जिनसे लोग सीधे तौर पर जुड़ा हुआ महसूस करते हैं। सर, हमारा वो प्रतिनिधि जो देश को पूर्णतः समर्पित है […]

राष्ट्रपति चुनाव: सुमित्रा महाजन बनाम शरद यादव?

विमर्श
1 year ago

भारत गणराज्य के सोलहवें राष्ट्रपति का निर्वाचन होने में अब अधिक समय नहीं बचा है। 25 जुलाई को वर्तमान राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी विदा लेंगे। याने अगले दो सप्ताह में राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के निर्वाचन की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। इस बार देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद के लिए होने वाला चुनावी मुकाबला काफी दिलचस्प होगा। क्योंकि सत्तापक्ष और विपक्ष के […]

गणेश कुमार का ‘मीडिया टेस्ट’ लेने प्रश्नपत्र को कहां से और कैसे तैयार किया गया?

विमर्श
1 year ago

बिहार विद्यालय परीक्षा बोर्ड के पूर्व टॉपर गणेश कुमार के निलंबन और अंततः गिरफ्तारी ने अधिकांश भारतीय मीडिया को अपनी पीठ थपथपाने का अवसर दे दिया है. मीडिया ये कहने की स्थिति में है कि उसने बिहार के ‘शिक्षा तंत्र’ की वास्तविकता से देश को परिचित करा दिया है. चूंकि न्यूज चैनलों पर चलने वाले ‘मीडिया टेस्ट’ के बाद ही […]

टोपी-दाड़ी, और बुर्का भी भारतीय विविधता!

विमर्श
1 year ago

यक़ीनन भारत को दुनियाभर में अलग-अलग विविधताओं के लिये जाना जाता रहा है। मगर दुख की बात ये है कि अब इसी पहचान ने देश के सामने कई सवाल खड़े कर दिये हैं और उनमें से एक सवाल ये भी है कि देशभर में टोपी-दाड़ी रखने और बुर्का पहनने वाले नागरिक सकते में हैं और कहीं न कहीं चिंताओं से […]

मैं दहशतगर्द नहीं, मुसलमान हूं..

विमर्श
1 year ago

वह बहुत अनुभवी रेल चालक था। तेज निगाह से वह दूर तक देख पाने में सक्षम था जिसकी वजह से उसने कई दुर्घनाएँ होने से बचाई। लम्बी दूरी की ट्रेन में बतौर मुख्य चालक उसने मुल्क के सौंदर्य को नजदीक से देखा था। धर्म से वह मुसलमान था। जब भी ट्रेन पहाड़ों से गुजरती वह मुल्क का सौंदर्य बने रहने […]

मैं एक मुसलमान औरत हूं और मेरी तमन्ना है कि…

विमर्श
1 year ago

मैं एक मुसलमान हूँ और हिंदुस्तान के एक गाँव, एक कसबे,एक ज़िला, एक शहर में रहती हूँ मैं कहना चाहती हूँ ….. मुझे तीन वक़्त की रोटी से पहले .. मुझे चौड़ी सड़कों से पहले … मुझे एक मजबूत तरक़्क़ी याफ़्ता दुनियाँ से पहले .. मुझे आधुनिक शिक्षा से लबरेज़ स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी से पहले .. मुझे बेहतरीन इलाज […]

समाज की हर कुंठा का समाधान है योनि

विमर्श
1 year ago

एक लड़का एक लड़की को पसंद करता है। लड़की पसंद नहीं करती तो लड़का उसका बलात्कार करके अंगभंग कर देता है और फिर उसके सिर को गाड़ी से कुचल देता है। एक लड़की बहुत बहादुर बनती है, छींटाकशी बर्दाश्त नहीं करती तो उसे शाम में ऑफिस से लौटते वक्त ‘सबक सिखाया’ जाता है और उसका बलात्कार हो जाता है। दो […]

अपनी बारी का इंतजार मत करिए, वर्ना तुम्हें बचाने वाला कोई नहीं होगा….

विमर्श
1 year ago

पहले वो यादवों को मारने आए.. मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं यादव नहीं था फिर वो जाटवों को मारने आए.. मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं जाटव नहीं था फिर वो पटेलों को मारने आए मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं पटेल नहीं था फिर वो जाटों को मारने के लिए आए मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं जाट […]

सहारनपुर: दबे-कुचले लोग अपना रास्ता ख़ुद तय कर रहे हैं

विमर्श
1 year ago

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एक समृद्ध जनपद सहारनपुर को लगता है राजनैतिक रोटियां सेकने वालो ने घेर लिया है। मुजफ्फरनगर, हरिद्वार, देहरादून, यमुनानगर, शामली से घिरा हुआ जनपद सहारनपुर उत्तर प्रदेश को उत्तराखंड और हरियाणा से जोड़ने का काम भी करता है। हालाँकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सभी जनपद सांप्रदायिक दंगों के चलते संवदेनशील माने जाते हैं लेकिन सहारनपुर अपनी […]

4 साल पहले: जब एक चिट्ठी पीएमओ पहुंचकर लीक हुई थी…

विमर्श
1 year ago

साल 2003 की बात है। तब हम स्टूडेंट थे और इंजीनियर सत्येंद्र दुबे नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया में प्रोजेक्ट डायरेक्टर थे। उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी सड़क योजना स्वर्णिम चतुर्भज सड़क योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार को नजदीक से देखा। उन्होंने तब प्रधानमंत्री अटलबिहारी वापजेयी को एक सीलबंद चिट्ठी लिखी जिसमें योजना में व्याप्त करप्शन का पूरा कच्चा चिट्ठा था। […]

More Posts
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved