fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी का झूठ सामने आया, केंद्र से दिल्ली को मिले 775 करोड़ को बताया था 48000 करोड़

Delhi BJP President Manoj Tiwari
(Image Credits: Indian Express)

दिल्ली के भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी का दिल्ली सरकार को लेकर किया गया दावा झूठा निकला। दरअसल मनोज तिवारी ने दावा किया था कि वर्ष 2018 में बजट के तौर पर दिल्ली सरकार को 48000 करोड़ रुपए दिए है। लेकिन असल में यह रकम 775 करोड़ है।

Advertisement

दरसल दिल्ली के बीजेपी मुखिया की यह गलत आंकड़े वाली टिपण्णी सीएम अरविंद केजरीवाल के ट्वीट पर आई थी। जब उन्होनें केंद्र और एमसीडी की सरकार पर दिल्ली के काम में समस्याएं पैदा करने का आरोप लगाया था।

वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा दिल्लींके लिए पेश किये गए बजट के अनुसार, 2014 -15 में दिल्ली सरकार को 325 करोड़ केंद्र द्वारा अनुदान के रूप दिए गए है। यह रकम केंद्रीय करों का हिस्सा है।

वहीं, दूसरी और दिल्ली सरकार की बात करे तो ,22 मार्च 2018 को मनीष सिसोदिया ने बजट पेश किया था जिसके अनुसार केंद्र द्वारा दिल्ली को कुल 775 करोड़ रुपए आवंटित किये गए थे। जिसमें से 450 करोड़ रुपए नॉर्मल सेंट्रल एसिस्टेंस के रूप में दिए गए थे, और 325 करोड़ केंद्रीय कर के रूप में आवंटित किये गए थे।


भाजपा मंत्री मनोज तिवारी से जब इसके बारे में पूछा गया तो ,उन्होनें एक चैनल को बताया कि, “केंद्र शासित होने के कारण दिल्ली को उसके सभी फंड केंद्र सरकार से मिलते हैं। मोदी सरकार ने राजधानी का बजट 36 हजार से बढ़ाकर 48 हजार करोड़ कर दिया। अब दिल्ली की सरकार के पास नगर निगम के कर्मचारियों को तनख्वाह न देने को लेकर कोई बहाना नहीं होगा।”

दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी के बजट से पता चलता है कि, 95 फीसदी राजस्व दिल्ली अपने खुद के स्रोतों से पैदा करती है, जिसमें कर और एक्साइज ड्यूटी शामिल हैं। इस हिसाब से भाजपा मंत्री मनोज तिवारी के तथ्य गलत शाबित होते हैं।

दिल्ली में आप की सरकार और भाजपा के नेतृत्व वाली नगर निगम के बीच फंड के सम्बन्ध में पहले भी काफी विवाद ही चुका है। पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) के कर्मचारी तनख्वाह न दिए जाने के कारण 11 सितंबर से हड़ताल पर हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved