fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बसपा सुप्रीमो मायावती: भाजपा और कांग्रेस की दलित व आदिवासी विरोधी सरकार होने के कारण नक्सल की समस्या

mayawati
(Image Credits: India Today)

बसपा प्रमुख मायावती ने रविवार को बीजेपी और कांग्रेस पर आरोप लगाया। मायावती ने कहा की दलित विरोधी सरकार होने के कारण ही देश में नक्सलवाद की समस्या बनी हुई है। कांग्रेस और बीजेपी द्वारा आरक्षण को देना तो दूर की बात है। ये दोनों सरकार आरक्षण को धीरे धीरे खत्म करने की कोशिश में लगे हैं।

Advertisement

प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस को अब आजमाने की जरूरत नहीं है। इन दोनों की सरकारो में मजदूरों गरीबों और मेहनतकश लोगों का विकास होना संभव नहीं हैं। छत्तीसगढ़ में बसपा और जनता कांग्रेस के गठबंधन करने के बाद पहले सयुंक्त महासभा में मायावी ने कहा। प्रदेश में बसपा और जकांछ की सरकार बनने के बाद ही सर्व समाज का विकास हो सकता है।

कांशीराम, गुरु घासीदासडा.और अंबेडकर के सपने को पूरा करने और उनके अनुयायियों को स्वाभिमान के साथ जीने का हक़ देने के लिए प्रदेश में जकांछ और बसपा का गठबंधन होना जरूरी है। मायावती ने नक्सली मुद्दों पर कहा की लोग मजबूरी में नक्सल बनते हैं। दलित और आदिवासी विरोधी सरकार के कारण ही देश में नक्सल की समस्या होती है।

बसपा और जकांछ की सरकार के बनने के बाद नक्सल अपने आप ही समाज के मुख्यधारा में लौट आएंगे। मायावती ने बीजेपी और कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा की इनके सरकार में गरीब मेहनतकश कमजोर तबकों का विकास नहीं हो पाया है। आदिवासी और दलित को सरकारी नौकरी में आरक्षण मिला है। लेकिन भाजपा और कांग्रेस ने आरक्षण का कोटा पूरा नहीं किया है। बल्कि ये दोनों तो आरक्षण को धीरे धीरे खत्म करने की कोशिश में लगे हैं।

उन्होनें कहा की राज्य निर्माण से प्रदेश का तेजी से विकास हो जायगा। लेकिन छत्तीसगढ़ बनने के बाद पहले कांग्रेस और फिर भाजपा दोनों के द्वारा छत्तीसगढ़ के लोगों का सपना पूरा नहीं किया गया। बसपा की सरकार ने उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार के दौरान जनकल्याण के योजनाओं के बारे में कहते हुए लोगों से कहा की यदि लोग अपना उत्थान और विकास चाहते हैं, तो बसपा जकांछ के उम्मीदवार को सफल बनाये।


मायावती ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुक्यमंत्री अजीतजोगी का जिक्र करते हुए कहा की वो काबिल नेता है, और उन्हें सरकार चलाने का अनुभव है। और लोगों को उनकी जरुरत है। जनसभा को अमित जोगी विधायक ने आरोप लगाते हुए कहा कि, महल के सरक्षण में सरगुजा को लुटा। उन्होंने कहा की छत्तीसगढ़ की धरती अमीर है परन्तु लोग गरीब है। जंगल जमीन छिनी है, लोगो को रोजगार नहीं दिया जा रहा है।

सर्वाधिक किसान सरगुजा समाज से हैं जो आत्महत्या करने के लिए मजबूर हैं। एक वर्ष में मेडिकल कॉलेज 460 नवजातों की मृत्यु हुई थी। इस जनसभा को जकांछ के अतुल सिंह,पीएस कुमार, इरफान सिद्दी और विधानसभा के प्रत्याशी सेतराम बड़ा मिठकु भगत द्वारा सम्बोधित किया गया।

कार्यक्रम का संचालन बसपा के प्रभारी जकांछ के इरफान सिद्दी ने किया। इस कार्यकम्र में बसपा और जकांछ के लोग जैसे सतीश चंद मिश्रा, सांसद अशोक सिदार, और युवा जकांछ के सुरेंद्र चौधरी, सीताराम मानिकपुरी, दानिश रफीक, मोहन सिंह, राजेश सिंह सिसोदिया, माया भगत, नरेंद्र साहू, देवेश प्रताप के आलावा बलविंदर सिंह छाबड़ा आदि लोग मौजूद थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved