fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

2019 चुनाव: चंद्रबाबू नायडू बनाएंगे भाजपा के खिलाफ महागठबंधन, देवेगौड़ा और कुमारस्वामी की मुलाकात

Chandrababu_Naidu

2019 के चुनाव काफी दिलचस्प होने वाले है। राजनैतिक पार्टिया अपनी जीत के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार है वही इस चुनाव में गठबंधन महागठबंधन की राजनीति भी काफी देखने को मिलेगी। वही एनडीए से अलग हुए तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू गंठबंधन बनाने की तैयारी में लगे हुए है। भाजपा को किसी ही तरह से मात देना अब राजनैतिक पार्टियों की प्राथमिकता बन गई है।

Advertisement

एन. चंद्रबाबू नायडू गठबंधन की राजनीति में माहिर हैं। और इस बार फिर से वे 2019 के रण के लिए महागठबंधन बनाने के लिए निकले हैं। चंद्रबाबू नायडू ने गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा और कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी से मुलाकात की। इससे पहले नायडू ने एनसीपी चीफ शरद पवार और एनसी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला से भी मुलाकात की थी।

आपको बता दे की पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू की मुलाकात उपचुनाव में कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन के कारण मिली जीत के बाद हुई है। मंगलवार को आए परिणाम में कांग्रेस ने तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीट पर जीत दर्ज की थी। बीजेपी सिर्फ शिमोगा सीट पर जीत दर्ज कर पाई थी। इस गठबंधन की सफलता को देख कर ही गौड़ा और नायडू इस बरकरार रख 2019 के लोकसभा चुनाव की रणनीति तैयार करेंगे।

चंद्रबाबू नायडू ने देवेगौड़ा कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी से मुलाकात के बाद पही वह प्रेस से मुखातिब हुए पूर्व प्रधानमंत्री गौड़ा ने कहा कि “पीएम मोदी के नेतृत्व में शासन कर रही एनडीए सरकार ने संविधान द्वारा बनाई गई संस्थाओं को अस्थिर करने समेत कई समस्याएं खड़ी कर दी हैं। अब यह सभी धर्मनिरपेक्ष दलों की जिम्मेदारी है कि वह एनडीए सरकार को हटाने के लिए एक साथ आएं।”

वही नायडू से मुलाकात करने के बाद जब देवेगौड़ा से इस गठबंधन पर राइ पूछी गई तो उन्होंने कहा की “आंध्रप्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू आगे आकर साल 2019 में एनडीए को हटाने के लिए सभी धर्मनिरपेक्ष दलों के नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं। वह आगे की रणनीति पर काम करने के लिए मुझसे और एचडी कुमारस्वामी से मिले।”


गैरतलब, अब चंद्रबाबू नायडू भाजपा सरकार के लिए 2019 में पूरी रणनीति के साथ मैदान में उतरेगी, वही महाराष्ट्र कांग्रेस 15 नवंबर से तीन दिनों तक 2019 के लोकसभा चुनाव पर अपने बैठक प्रारम्भ करने जा रही है। पार्टी के बयान के अनुसार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण, महाराष्ट्र के पार्टी मामलों के प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे राज्य की सभी 48 लोकसभा क्षेत्रों की राजनीतिक स्थिति का जायजा लेंगे और आगे की रणनीति कैसे तैयार करनी है इसका भी विचार इसी बैठक के दौरान किया जायेगा।

कुछ दिन पहले कांग्रेस और एनसीपी अगले साल के लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन करने के लिए एक दूसरे के करीब आयीं। दोनों पार्टियों के बीच महाराष्ट्र की 48 सीटों में से 38 पर सहमति बन रही है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved