ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

हम ‘भारतीय जनता’ के मित्र हैं लेकिन किसी ‘पार्टी’ के नहीं- शिवसेना

अलवर में मुस्लिम युवक रकबर खान की हत्या के बाद राज्य की बीजेपी सरकार और केंद्र सरकार की मंशा पूरी तरह से बेनकाब होती दिख रही है. इस मामले के बाद एक और जहां सभी विपक्षी राजनीतिक दल बीजेपी की सरकारों पर हमले कर रही हैं, वहीं बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने भी आड़े हाथ लिया है.

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पार्टी के मुखपत्र सामना में दिए एक इंटरव्यू में कहा कि देशभर में भीड़ द्वारा गौरक्षा के नाम पर पीट-पीटकर हत्याएं की जा रही हैं और सरकार इस पर कुछ कदम नहीं उठा रही है. ठाकरे ने कहा कि गायों को बचाने के नाम पर अगर आप अपना ध्यान इस बात पर दे रहे हैं कि कोई गोमांस खा रहा है या नहीं, तो यह शर्मनाक है, यह हिंदुत्व नहीं है.

उन्होंने आगे कहा कि इस देश में गायें सुरक्षित हैं लेकिन महिलाएं नहीं. उन्होंने कहा देश में जिस हिन्दुत्व के विचार का पालन किया जा रहा है, मैं उसे स्वीकार नहीं करता. हमारी महिलाएं असुरक्षित हैं और आप गायों को बचा रहे हैं.

उद्धव ने कहा शिवसेना नहीं चाहती कि गौवध किया जाना चाहिए, लेकिन गायों को बचाने की कोशिश में भारत महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित देश बन गया है, यह शर्मनाक है.

इंटरव्यू में शिवसेना प्रमुख ठाकरे ने स्पष्ट किया कि 2019 के आम चुनावों को शिवसेना अपने दम पर लड़ेगी. ठाकरे ने कहा कि हम सरकार का हिस्सा हैं, लेकिन यदि कुछ गलत है तो हम निश्चित रुप से उसके बारे में बात करेंगे.

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved