fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

चुनाव आयोग ने स्वीकार किया, भोपाल में वोटिंग के बाद जिस स्ट्रांग रूम रखी गई थीं ईवीएम मशीनें, बंद हो गए थे वहां के सीसीटीवी कैमरे

Election-Commission-accepted,-EVM-machines-that-were-kept-in-Bhopal's-strong-rooms-after-voting,-CCTV-cameras-had-been -closed-there.
(Image Credits: Firstpost Hindi)

चुनाव आयोग द्वारा स्वीकार किया गया है की भोपाल के जिस स्ट्रांग रूम में मतदान के बाद ईवीएम रखा गया था वहां पर सीसी टीवी कैमरे एक घंटे के लिए बंद हो गए थे। ऐसा बिजली जाने के कारण हुआ था। करीब एक घंटे के लिए अचानक बिजली चली गई जिसके कारण सभी सीसी टीवी कैमरे बंद हो गए।

Advertisement

चुनाव आयोग ने यह भी कहा है की सागर में मतदान खत्म होने के बाद ईवीएम मशीनों को जमा करने के मामले में एक अधिकारी पर कार्रवाई की गई है। बता दें की भोपाल और सागर का मामला सामने आने के बाद विपक्षी पार्टियां ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा रही है।

चुनाव आयोग द्वारा दिए गए बयान के अनुसार, ”भोपाल केI कलेक्टर की रिपोर्ट के अनुसार 30 नवंबर को बिजली कटने की वजह से स्ट्रांग रूम के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे और एलईडी डिस्पले सुबह 8:19 से 9:35 तक बंद रहे. इसकी वजह से रिकॉर्डिंग नहीं हो पाई. बाद में एक अतिरिक्त एलईडी स्क्रीन, इनवर्टर और जेनरेटर की व्यवस्था की गई”.

चुनाव आयोग के मुताबिक, ‘अब सारे कैमरे काम कर रहे हैं और सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है. सुरक्षाकर्मी लॉग बुक भी मेंटेन कर रहे हैं और मशीनें पूरी तरह सुरक्षित हैं’. चुनाव आयोग ने कांग्रेस द्वारा ओल्ड जेल के स्ट्रांग रूम का एक दरवाजा खुले रहने की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए कहा की शिकायत मिलने के तुरंत बाद इस बंद करवा दिया गया था।

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में ईवीएम मशीनों की सुरक्षा को लेकर कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिला था। बता दें की एक दिन पहले ही मध्य प्रदेश के खुरई विधानसभा क्षेत्र से चुनाव ख़त्म होने के 48 घंटो बाद ईवीएम मशीनों के सागर पहुंचने की खबर आई थी। इसके बाद कांग्रेस के नेताओं द्वारा जमकर हंगामा किया गया था और ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ का आरोप आरोप भी लगाया था।


इस मामले में राजेश मेहरा नायब तहसीलदार पर एक्शन लिया गया और उनको निलंबित कर दिया गया है। खुरई में राजेश मेहरा बतौर सहायक रिटर्निंग आॅफिसर तैनात थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved