fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

आंध्र प्रदेश: चद्रबाबू नायडू की सरकार ने बेरोजगार ब्राह्मण युवाओं को बाँटी डिजायर कार

chief-minister-chandrababu-naidu-distribute-swift-dzire-cars-to-unemployed-brahmin-youth

चुनाव से ठीक पहले अब तेलगु देशम पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार अब लोगो को लुभाने के लिए नए नए तरीके अपना रही है। वही इस चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू का प्लान है कि वह स्मार्टफोन बांटेंगे। वही स्मार्ट फ़ोन बाँटने से पहले चंद्रबाबू नायडू ने शुक्रवार 4 जनवरी को अमरावती में अपने शिविर कार्यालय में बेरोजगार ब्राह्मण युवाओं को 30 स्विफ्ट डिजायर कार दीं।

Advertisement

सूत्रों की माने तो चंद्रबाबू नायडू ने यह कार बेरोजगार ब्राह्मण युवाओं को इसलिए बनती है क्यूंकि यह इस गाडी का प्रयोग युवा कैब के तौर पर कर सकते हैं, और अपनी बेरोजगारी से छुटकारा पा सकेंगे।

यह 30 स्विफ्ट डिजायर कार सिर्फ ब्राह्मण समाज के बेरोज़गार युवाओं को ही बांटी गई है। इसके पीछे नायडू का सीधा प्लान चुनावी दौर में ब्राह्मण समाज को लुभाने का माना जा रहा है। नायडू ने इससे पहले 1 जनवरी को राज्य की वित्तीय एवं आर्थिक विकास दर पर एक श्वेत पत्र जारी किया। इस श्वेत पत्र में राज्य के प्रत्येक परिवार को मुफ्त स्मार्टफोन देने की घोषणा की गई।

नायडू ने यह तर्क देते हुए कहा की राज्य के हर के परिवार के पास एक स्मार्ट फ़ोन होना चाहिए। स्मार्ट फ़ोन आज की बोहोत बड़ी जरुरत है और उससे ज़िंदगी को आसान बनाया जा सकता है। और राज्य की सरकार हर एक परिवार को स्मार्ट फ़ोन देगी इसकी घोषणा नायडू पहले ही कर चुके है उन्होंने यह भी कहा है की इसके लिए उन्हें 14 मिलियन स्मार्टफोन चाहिए।

आपको बता दे की आंध्र प्रदेश सरकार की योजना के अनुसार, ब्राह्मण वेलफेयर कॉर्पोरेशन लोगो को अपने गाडी खरीदने में मदद कर रही है वही यह वेलफेयर दो लाख रुपये की सब्सिडी देगा। यदि किसी ब्राह्मण समाज के व्यक्ति को गाडी ललेनी है तो उसको मात्र गाड़ी की कीमत की 10 फीसदी रकम देनी होगी। बाकी कीमत आंध्र प्रदेश ब्राह्मण कॉपरेटिव क्रेडिट सोसायटी वहन करेगी।


वही लोन की कीमत भी लाभार्थी को मासिक किस्तों में भी चूका सकता है। यानी गाडी की कुल कीमत का सिर्फ 10 फीसदी ही लाभार्थी को चुकाना होगा वो भी मासिक किस्तों में। जिसकी किश्तों का भुगतान सरकार को हर महीने करना होगा। कॉर्पोरेशन के चेयरमैन वेमुरी आनंद सूर्या ने बताया कि पहले चरण में 50 कारों को मंजूरी दी गई है।

अप्पको बता दे की आंध्र प्रदेश की सरकार के पास इस योजना के लिए शुरुवात में 30 करोड़ रुपये का बजट दिया गया था। वही अब इस योजनी के कुल बजट को बढ़ा कर 285 करोड़ रुपये का कर दिया गया है। अब तक लगभग डेढ़ लाख लोग ब्राह्मण कॉर्पोरेशन द्वारा लाभान्वित हुए हैं। इसके तहत वेद व्‍यास, भारती, भारती विदेशी विद्या, वशिष्‍ठ, द्रोणाचार्य, चणक, कश्‍यपा-अहिल्‍या और गरुड़ योजना चलाई जा रही हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved