fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

मुख्यमंत्री योगी द्वारा हनुमान को दलित बताने पर भीम आर्मी प्रमुख चंन्द्रशेखर का बड़ा ऐलान, देशभर में मच सकता है बवाल

chief-minister-Yogi,-told-Hanuman-to-be-Dalit,-A-big-announcement-of-Bhim-Army-chief-Chandrashekhar,-the country-may-feel-scourge
(Image Credits: m.Dailyhunt.in)

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर द्वारा 2 अप्रैल को एससी एस्टी एक्ट में संशोधन के विरोध में भारत बंद करवाया गया था। जिसके दौरान जनपद में हुए उपद्रव के आरोप में जेल में बंद लोगों को एन एस को हटाकर तुरतं रिहा करने की मांग को लेकर भीम आर्मी द्वारा जिला कलेक्ट्रेट में जोरदार प्रदर्शन किया गया।

Advertisement

इस प्रदर्शन में भीम आर्मी के संस्थापक चंदशेखर भी पहुंचे। इस दौरान चंद्रशेखर ने शासन और प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा की सरकार या तो अनुसूचित समाज के लोगों का उत्पीड़न बंद करे दे, नहीं तो बहुत बड़ा आंदोलन देश के राजधानी दिल्ली मे किया जायगा।

उन्होनें कहा की संविधान के तहत अपना हक हम लेकर रहेंगें। चाहे उसके लिए हमें कितनी भी कुर्बानी क्यों न देनी पड़ जाये। कलेक्ट्रेट कैंपस में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा। योगी द्वारा हनुमान को दलित बताय जाने पर कहा कि अगर हनुमान जी दलित हैं तो फिर दलित सभी हनुमान मंदिरों पर कब्जा कर उन पर चढ़ाए गए चढ़ावा भी खुद ही लें।

इस दौरान भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि वे सभी प्रदेशों  के जिला कार्यालय पर और विधानसभा कार्यालय पर ज्ञापन देते हुए एक बड़ा आंदोलन खड़ा करेंगें, ताकि उनको न्याय मिल सकें।

वहीं योगी द्वारा हनुमान को दलित कहने पर कहा कि वह लोग अपनी राजनीति को सीधा करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं। वह धार्मिक मुद्दों पर ही लड़ते हैं, देश के गंभीर मुद्दों से लोगों का ध्यान भटका सकते हैं।


अगर वे कह रहें है की हनुमान जी दलित थे तो देश के दलित समाज को देश के जितने भी हनुमान मंदिर है उन पर कब्ज़ा कर लेना चाहिए और वहां के पुजारी स्वयं ही बन जाये और वहां पर चढ़ावा चंदा आता है उसको अपने पास रख लें। क्योंकि जब हमारे पूर्वज है तो मंदिर भी हमारे हुए। इसलिए अपने मंदिर में पूजा करने और जो चढ़ावा मिलता है उसको भी रखने का अधिकार हमें होना चाहिए।

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने कहा कि जिस तरह से अयोध्या से सन्देश आ रहें थे कि वहां मुसलमान भाई अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे थे। ओबीसी और दलित समाज अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहा था।

जब हमें इसकी जानकारी मिली तो हम वहां पहुंचे और वहां के प्रशासन से कहा किसी भी सूरत में किसी भी मुस्लिम, दलित और ओबीसी पर कोई अत्याचार नहीं होना चाहिए। यहाँ सुरक्षा का माहौल मुहैया करवाएं और इसको सुरक्षित रखें और यदि आप ऐसा करने में असमर्थ है तो आपका होना या न होना सब बेकार है।

मायावती पर चंद्रशेखर ने बोलते हुए कहा कि यह पारिवारिक मामला है। इसके संदर्भ में कुछ भी कहना व्यर्थ है। परिवार के मामले बाहर नहीं ले जाने चाहिए। बुआ जी हैं, बहन जी है पारिवारिक मामला है। देश की सबसे बड़ी बहुजनों की नेता हैं। अगर वे कुछ कहती हैं, अगर वह डाटतीं भी है तो हमारा काम है उनको सुनने का। आंदोलन अब पूरे देश में चलेगा। आज (2 दिसम्बर) से आंदोलन की शुरआत हो गई है और आंदोलन हम दिल्ली में करेगें।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved