fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

धार्मिक बैठक में मुख्यमंत्री के पीए देख रहे थे आपत्तिजनक वीडियो, धर्मगुरु के चौकन्ना करने पर किया बंद।

pa-watched-objectionable-video-during-the-meeting-in-kurukshetra

देश की एक प्लस ग्रेड यूनिवर्सिटी केयू के सीनेट हाल में एक बड़े और प्रतिष्ठित धार्मिक आयोजन को लेकर राज्य सरकार ने एक विशेष बैठक आयोजित की थी। बैठक में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल के पीए अभिमन्यु भूल गए कि वे कहां और किस उद्देश्य से, किन हस्तियों के साथ बैठक में शामिल हुए है।

Advertisement

इस धार्मिक बैठक में मुख्यमंत्री मनोहरलाल समेत कई प्रतिष्ठित हस्तियां विचार मंथन करने पहुंचीं थीं। यह आयोजन सीनेट हाल में हो रही थी। उक्त विशेष बैठक के दौरान मुख्यमंत्री के मंच से अलग अग्रणी पंक्ति में एक धर्मगुरु भी बैठे थे। इन्हीं के साथ वीआईपी कुर्सी पर मुख्यमंत्री के पीए की आंखें एंड्रायड फोन में चलाई गई वीडियो देखने में व्यस्त थीं। पीए अभिमन्यु अपने कानो में मोबाइल की लीड लगाकर वीडियो देखने में मगन हो रखे थे।

वीडियो देखते समय अभिमन्यु कार्यक्रम की मर्यादा के साथ यह भी भूल गए कि उनके साथ एक धर्मगुरु भी बैठे हैं। पर अभिमन्यु को कोई फर्क नहीं पड़ा वह अपना पूरा ध्यान वीडियो में लगाए हुए थे। यहां यह बताना लाजिमी है कि उनके मोबाइल में जो आपत्तिजनक सीन चल रहा था ,उससे पहले उसमें सामान्य दृश्य ही चल रहे थे, लेकिन धार्मिक आयोजन पर हो रही इस सरकारी बैठक में सामान्य वीडियो देखना भी गलत था।

pa-watched-objectionable-video-during-the-meeting-in-kurukshetra

वीडियो का हिस्सा

वीडियो देखने में पहले समान्य ही लग रही थी, पर कुछ ही देर में समान्य वीडियो के साथ ही उनके मोबाइल के वीडियो में काफी आपत्तिजनक सीन चल रहे थे। जिससे अभिमन्यु बड़े भी मगन होकर देख रहे थे। वीडियो में ऐसा दृश्य भी दिखा, जिसे सभ्य समाज सार्वजनिक रूप से देखने की इजाजत नहीं देता। बता दें कि इस बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में दर्शन, नैतिक मूल्यों और वर्तमान परिस्थितियों के साथ-साथ आयोजन की तैयारियों तथा भावी योजनाओं को लेकर भी कई महत्वपूर्ण बातें साझा की थीं।


कार्यक्रम के दौरान जब अभिमन्यु वीडियो देख रहे थे तभी जनाब की जब मोबाइल की फोटो खींची तोह बगल में ही वीआईपी चेयर पर बैठे धर्मगुरु में उन्हें चौकन्ना किया। कानो में लगी लीड के कारण अभिमन्यु को फोटो खींचने की आवाज़ सुनाई नहीं पड़ी थी। घर्मगुरू के बोलने के बाद ही पीए अभिमन्यु ने झट से अपने मोबाइल में वीडियो बंद कर व्हाट्सप्प के टेक्स्ट देखने शुरू कर दिए।

अभिमन्यु के कमरे में कैद हो जाने के बाद जब मुख्यमंत्री के पीए अभिमन्यु से उनका पक्ष जानने के लिए कॉल की गई तो उनका मोबाइल ऑफ मिला। उन्हें टेक्स्ट मैसेज के अलावा व्हाट्स एप भी किया गया लेकिन कोई रिस्पांस नहीं आया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved