fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

देश भर के किसानो ने मिल कर दिल्ली के रामलीला मैदान तक किया मार्च, आज करेंगे संसद तक कूच

farmers-from-all-over-the-country-met-and-marched-to-Ramlila-Maidan-Delhi,- will-travel-today-to-parliament
(Image Credits: moneycontrol)

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति (एआईकेएससीसी) के पोस्टर लेकर दिल्ली पहुंचे देश भर के हजारों किसानों ने बृहस्पतिवार को किसान मुक्ति मार्च निकाला। दिल्ली की चार दिशाओं से निकाले गए मार्च की दिशा रामलीला मैदान रही।

Advertisement

रामलीला मैदान में रात भर ठहरने के बाद करीब 200 संगठनों से जुड़े किसान शुक्रवार यानी आज सुबह संसद की तरफ पैदल जायेंगे। सभी किसान पूर्ण कर्ज माफी के साथ फसल की लागत का डेढ़ गुना मुनाफा दिलाने के लिए अपना मुद्दा उठाएंगे। दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस ने किसानों को नई दिल्ली में प्रवेश की अनुमति नहीं दी है। देर रात तक किसान नेताओं से बात की जा रही थी।

सबसे लम्बे मार्च की अगुवाई स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने की, जबकि तीन यात्राएं निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के नजदीक गुरुद्वारा श्री बाला साहिब, आनंद विहार रेलवे स्टेशन व सब्जी मंडी से निकाली गई। इन चारों यात्राओं में देश के अलग-अलग हिस्सों के किसान शामिल हुए।

यादव का कहना है कि किसान मुक्ति मार्च देश के किसानों की लूट, आत्महत्या, शोषण और अन्याय से मुक्ति की यात्रा है। इस यात्रा में किसान अकेले नहीं हैं, बल्कि पूरा देश इस यात्रा में उनके साथ चल रहा है।

यात्रा के दौरान किसानो की कुछ मांगे है जिसे वह सरकार से लागू करवाना चाहते है। सरकार संसद का विशेष सत्र बुलाकर बीते दिनों किसान संसद की तरफ से पारित दो अहम विधेयकों को पास कराए। पहला कानून किसानों को एक बार में पूरी तरह से ऋण मुक्त किया जाए। दूसरा कृषि उपज का उचित और लाभकारी मूल्य से जुड़ा है। इसमें किसानों की आय फसल की लागत का डेढ़ गुना करने का नियम है।


किसानो के किस मार्च से कई जगहों पर यातायात प्रभावित हो रहे हैं। गाजियाबद एसएसपी उपेंद्र अग्रवाल का कहना कि किसान मुक्ति मार्च के चलते दिल्ली में मजनू का टीला, चंदगी राम अखाड़ा, कश्मीरी गेट आईएसबीटी, समालखा, एनएच 8, धौला कुआं, नोएडा में ट्रैफिक पुलिस को यातायात व्यवस्था बहाल रखने में खासी मशक्कत करनी पड़ी। इस किसान मार्च के चलते दिल्ली में प्रवेश के रास्तों पर पुलिस बल तैनात किया गया और ट्रैक्टर ट्रॉली को प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved