fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

Article 370 को मोदी सरकार ने कैसे किया खत्म, स्कूली पाठ्यक्रम में बताया जाएगा

how-Modi-government-abolished-Article-370-will-be-explained-in-the-school-syllabus
(image credits: the federal)

घाटी से विशेष दर्जा हटाने के बाद मोदी सरकार जहा एक तरफ कुछ पार्टियों द्वारा विरोध का सामना कर रही है। वहीँ सरकार अपने फैसले को लेकर हर तरह से अपनी तारीफ करने में लगी है। इतना ही नहीं अब बीजेपी सरकार आर्टिकल 370 हटाए जाने की घटना को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने की कोशिश में है।

Advertisement

पुणे में बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा, आर्टिकल 370 क्या था और सरकार ने इसे कैसे खत्म किया, इसकी जानकारी विद्यार्थियों को होनी चाहिए। लिहाजा, सरकार के प्राथमिक एजेंडे में इसे कोर्स में शामिल कराना है।

जेपी नड्डा ने कहा कि युवा पीढ़ी को जम्मू-कश्मीर के सदर्भ में हाल ही में हुए घटनाक्रम की जानकारी होनी चाहिए। हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक नड्डा ने कहा, “हमारी युवा पीढ़ी को इन सब बातों की जानकारी विस्तार से होनी चाहिए।” दरअसल नड्डा ने यह बात तब बताया जब उनसे पूछा गया कि क्या आर्टिकल 370 को स्कूल के कोर्स में शामिल किया जाएगा।

इस दौरान नड्डा ने जम्मू-कश्मीर में एनआरसी लागू करने की संभावना पर कहा कि वहां लोकतांत्रिक प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। और भविष्य में इस तरह के कदम उठाए जा सकते हैं।

आपको बता दे कि 5 अगस्त को केंद्र की मोदी सरकार ने तेजी से पहल करते हुए कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35A को हटा दिया। इन धाराओं के चलते जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा मिला हुआ था। सरकार के इस फैसले पर विपक्षी पार्टियों ने सवाल खड़े किये, और उनकी मंशा पर भी सवाल उठाया।


मोदी सरकार का मानना है की उस अनुच्छेद के कारण वहां लोकतान्त्रिक अधिकार प्रभावित हो रही थी। बता दे की आर्टिकल 370 और 35A के हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्रशासित प्रदेशों में भी बांट दिया गया है।

मौजूदा सरकार द्वारा लिए गए कदमो को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करना हैरान करने वाला लगता है। यहाँ देखने वाली बात यह है की अगर मौजूदा सरकार अपनी कामयाबियों को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करके विद्यार्थियों को जागरूक करना चाहती है। तो उन्हें इसके साथ साथ उनके कार्यकाल में अर्थवयवस्था में आई मंदी की भी जानकारी बच्चो तक पहुचानी चाहिए। जिससे की वह मौजूदा सरकार के कार्य करने के तरीको से भी जागरूक हो सके।

मौजूदा सरकार को उनके द्वारा माने जाने वाले सफलता के साथ उनकी असफलता को भी पाठ्यकम्र में शामिल करने की जरूरत है। जिससे की विद्यार्थियों को केंद्र की भाजपा सरकार के बारे में जानने में और अधिक मदद मिल पाए।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved