fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

आचार संहिता उल्लंघन पर SDM से भिड़े भाजपा के केंद्रीय मंत्री, कहा- हिम्मत है तो जेल ले चलो

union-minister-ashwini-kumar-choubey-misbehaves-with-sdm-in-buxar-after-the-official-had-stopped-his-convoy
Image Credit: The Wire

लोकसभा चुनाव के घोषणा के बाद चुनाव आयोग द्वारा आचार सहिंता लागु कर दी गई है। एक तरफ कुछ पार्टियों द्वारा आचार संहिता नियमो का पालन भी किया जा रहा है। वहीं कुछ पार्टी के नेता इस नियम को अनदेखा कर इसकी धज्जियाँ उड़ाने में लगे है। यहां कुछ पार्टी कहने से हमारा मतलब भारतीय जनता पार्टी से है। दरअसल चुनाव करीब है और मौजूदा सरकार आचार सहिंता लागु होने के बाद चुनाव प्रचार से सम्बंधित कार्य करने से पीछे नहीं हट रही है। 

Advertisement


कुछ इसी प्रकार देश के प्रधानमंत्री के साथ साथ भी बीजेपी के मंत्रियो द्वारा भी आचार सहिंता का उल्लघन किया गया। हम बात करने जा रहे है भाजपा से केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की। जिन पर आरोप है की उन्होंने अपने काफिले में आचार सहिंता में तय नियमो से ज्यादा गाड़ियों का इस्तेमाल किया है। जब SDM ने इसका विरोध किया तो अश्विनी चौबे ने उनके साथ गलत व्यहार किया। 
घटना बिहार के बक्सर की है जहाँ आचार संहिता का उल्लंघन की बात पर भड़के केंद्रीय मंत्री और बक्सर से बीजेपी के उम्मीदवार अश्विनी चौबे ने एक अधिकारी के साथ न सिर्फ अभद्रता की, बल्कि उन्हें धमकाया भी। बता दें की बक्सर में एक चुनावी सम्मेलन में जा रहे अश्विनी चौबे के काफिले में गाड़ियों की संख्या आचार संहिता का उल्लंघन कर रही थी। 


काफिले में अनुमति से ज़्यादा गाड़ियों के काफिले पर प्रसासन के द्वारा आचार संहिता के उल्लंघन की बात पर भड़के केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने बक्सर के एसडीएम केके उपाध्याय को बुरा भला कहा और उनसे बदसलूकी भी की. इतना ही नहीं, यह भी चिल्लाते हुए कहा कि कि हिम्मत है तो ले चलो जेल. किसके आदेश से मेरी गाड़ी रोके हो?

बिहार में अश्विनी चौबे के बारे में यह माना जाता है की, उन्हें किसी का रोकना टोकना पसंद नहीं है। परन्तु जिस प्रकार बीजपी नेता केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कानून को उसका काम करने से रोका है। इससे उनपर आचार सहिंता का उल्लंघन का मामला बनता है। प्रशाशन ने बक्सर में आये बीजेपी मंत्री को किला मैदान में हो रहे कार्यक्रम में अनुमति से ज्यादा वाहनों लाने पर सवाल उठाये। जिसके कारन बीजेपी मंत्री प्रशासन के सवालों से भड़क ऊठे और अधिकारी के साथ बदतमीजी की। 

केंद्रीय मंत्री चौबे एसडीएम पर इतने भड़क गये कि उन्होंने अधिकारी को जेल में डालने की चुनौती भी दे दी। इतना ही नहीं, उन्होंने अधिकारी से कहा कि किसका आदेश है, तो अधिकारी ने काफी विनम्रता से कहा कि चुनाव आयोग का। परन्तु केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे इतने पर ही नहीं रुके और वह अपनी गाड़ी का दरवाजा खोल उस पर खड़े होकर कहने लगे ये गाड़ी मेरी है…हिम्मत है तो जेल भेजो, चलो जेल भेजो.. तमाशा करते हैं आपलोग..’



 घटना के वीडियो में यह साफ देखा जा सकता है की अधिकारी केंद्रीय मंत्री को आचार संहिता के उल्लंघन की बात बता रहा है, जिसके बाद केंद्रीय मंत्री भड़क जाते हैं और धमकाते हुए भी दिख रहे हैं। हालांकि, इसके बाद अधिकारी ने केंद्रीय मंत्री के काफिले को आगे बढ़ने दिया।  घटना के बाद एसडीओ ने कहा कि अनुमति से ज्यादा वाहन थे, इसलिए कार्रवाई तो होकर ही रहेगी. बता दें कि केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे बक्सर से उम्मीदवार हैं। 


इस पूरे घटना से यह पता चलता है की बीजेपी मंत्री सरकारी अधिकारी SDM के साथ किस प्रकार का व्यवहार करते है। उनके इस प्रकार के व्यवहार से उनका सत्ता से जुड़े घमड़ का पता चलता है। अक्सर बीजेपी के नेताओ द्वारा इस प्रकार की हरकत की जाती है। आचार सहिता का उल्लघन करके बीजेपी नेता ने यह दिखा दिया है की उन्हें और उनकी पार्टी के लोगो को कानून और नियमो की कोई परवाह ही नहीं है। वैसे भी जिस पार्टी के प्रधानमंत्री द्वारा इस प्रकार के कार्य को अंजाम दिया जा सकता है तो हम पार्टी के बाकी नेताओ से और क्या उम्मीद कर सकते है।  

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved