fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

अराजक तत्वों ने दूसरी बार क्षतिग्रस्त किया आंबेडकर प्रतिमा, पुलिस की लापरवाही, दूसरी बार भी आरोपियों का कुछ पता नहीं

Anarchy-elements-damaged-second-time-Ambedkar-statue,-police-negligence,-even-second-time-the-accused-are-not-detained
(Image Credits: The Wire)

मरदह गाजीपुर थाना क्षेत्र के दुर्खुर्शी चट्टी पर स्तिथ भीम राव आम्बेडकर की प्रतिमा को कुछ अराजक तत्वों ने मगंलवार की रात को नुकसान पंहुचा दिया। अगले दिन सुबह जब इसकी जानकरी मिली तो भीम आर्मी के दर्जनों सदस्यों सहित सैकड़ों दलित समुदाय के लोग मौके पर पहुँच गए।

Advertisement

इस घटना को लेकर लोगो ने हल्ला मचाया इसी बीच आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर लोगो ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। मौके पर एसडीएम भी पहुंच गए और कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया। जिसके कारण पांच घंटे बाद लोगों ने धरना प्रदर्शन बंद कर दिया।

बुधवार की सुबह जब गांववालों की नजर प्रतिमा पर पड़ी तो उन्होनें देखा कि वह क्षतिग्रस्त हुई पड़ी थी। इसकी जानकारी मिलते ही भीम आर्मी के सदस्य और दलित समुदाय के लोग मौके पर पहुँच गए। हो हल्ला मचने लगा और इसी बीच आरोपियों की गिरफ्त्तारी की मांग को लेकर लोगो ने धरना प्रदर्शन किया।

इसकी जानकारी मिलने के बाद ही थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई और अराजक तत्वों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया, लेकिन प्रदर्शनकारी मौके पर सक्षम अधिकारी को बुलाने की जिद्द करने लगे। इस दौरान पुलिस के सूचना पर कासिमाबाद एसडीएम मंताराम और क्षेत्राधिकारी चंद्रप्रकाश शर्मा के साथ मौके पर पहुंच गए।

इसे देखकर एसडीएम ने तुरंत ही अराजक तत्वों की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया। इसके बाद लोगो ने 5 घंटो के बाद अपना धरना प्रदर्शन बंद कर दिया।


अराजक तत्वों के गिरफ्तारी के लिए धरना प्रदर्शन के अधिवक्ता मनोज कुमार, पेशकार भारती, राजेश, हरिकेश, अवधेश, राधेश्याम, नागेंद्र, पंकज, श्रवण, मिथिलेश, संजय, हीरालाल, ऋषिकेश, डा. अवधेश भारती सहित दर्जनों लोग शामिल थे।

कासिमाबाद चंद्रप्रकाश शर्मा क्षेत्राधिकारी ने बताया की गांव के पेशकर भारती के तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा कर अराजक तत्वों की छानबीन शुरू कर दी गई है। जल्द ही उन लोगों को गिरफ्तार कर लिया जायगा।

अराजक तत्वों द्वारा आम्बेडकर की प्रतिमा को नुकसान पहुँचाना कोई नई बात नहीं है इससे पहले भी मार्च 2018 की रात में इसी प्रतिमा को अराजक तत्वों ने नुकसान पहुंचाया था। इस समय भी लोगों द्वारा प्रदर्शन किया गया था। पुलिस इस मामले में अभी तक अराजक तत्वों को गिफ्तार भी नहीं कर पाई है की दुबारा आम्बेडकर की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाया जाता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved