fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

पीएम आवास योजना में बड़ा घोटाला, अधिकारियो ने घोटालेबाजी स्वीकारा

Big-scam-in-PM-housing-scheme,-officials-have-accepted-scam
(image credits: news nation)

जहाँ बीजेपी ने लोगो के पीएम आवास योजना निकाली थी वही उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में पीएम आवास योजना के निर्माण में मजदूरी में बड़ा घोटाला सामने आया है। घोटाला सामने आने से प्रशासनिक स्तर पर हड़कंप मच गया है। एक अनुमान के अनुसार पूरे इटावा जिले में करीब 20 करोड़ रुपए से अधिक का मजूदरी घोटाला हुआ है।

Advertisement

इटावा जिले के विकास खंड ताखा क्षेत्र में 2015 से 2019 तक आवासों के निर्माण में लाभार्थियों को मिलने वाली धनराशि में जमकर घपला किया गया। यहां तक कि ज्यादातर लाभार्थियों को यह भी नहीं मालूम है कि उन्हें आवास के निर्माण में मजदूरी का भी पैसा मिला करता है। ताखा की ग्राम पंचायत बम्हनीपुर के लाभाथिर्यों ने मामले के खुलासे के बाद खंड विकास अधिकारी ताखा पीएन यादव से शिकायत कर विरोध जताया है।

शिकायतकर्ता अनीता देवी, उनके पति सियाराम, अंजना देवी उनके पति राजेश कुमार ने बताया कि उनको फरवरी माह में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास मिला था जिसे उन्होंने निर्मित कर लिया है लेकिन उनकी मजदूरी की धनराशि अनेकों बार शिकायत करने पर भी नहीं मिली। इस संबंध में पूछने पर उन्हें बताया गया कि उनकी मजदूरी की धनराशि दूसरे खातों से निकालकर हड़प ली गई है। इसी तरह ग्राम पंचायत रूद्रपुर, चमरपुर में आवास लाभार्थी से जुड़े कई लोगो ने बताया कि उन्हें मनरेगा मजदूरी के तहत मिलने वाली धनराशि नहीं मिली है। ग्राम प्रधान बम्हनीपुर सियाराम कमल का कहना है कि गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना में लाभान्वित ज्यादातर लोगों को मजदूरी का पैसा नहीं मिला है। इस संबंध में शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

बीजेपी राज में लोगो के लिए निकली गई हर योजना एक छलावा होता है परन्तु इस बार मोदी सरकार की पोल पूरी तरह खुल गयी है। आवास योजना में यह एक बड़ा घोटाला है। जहाँ लोगो को पीएम आवास का लाभ मिलना चाहिए था तो वही इसमें काम करने वाले मजदूरों से ही धोका किया जा रहा है।

विकासखंड ताखा की 42 ग्राम पंचायतों में से 10 पंचायतों की जांच खंड विकास अधिकारी ताखा कर रहे हैं। इन ग्राम पंचायतों में प्रति आवास मिलने वाले 15,700 रुपए लाभार्थी के स्थान पर दूसरी ग्राम पंचायत में अन्य लोगों के खातों में भेजकर हड़प लिया गया है। जानकारी मिलने पर खंड विकास अधिकारी ने नोटिस भी जारी कर दिया।


खंड विकास अधिकारी ताखा अवधेश गुप्ता का कहना है कि ताखा की ग्राम पंचायतों में आवासों की मजदूरी में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया गया है। एक दूसरे खातों में धनराशि भेजकर हड़प ली गई है। इसकी जांच की जा रही थी।

ताखा तहसील में 18 जून ग्राम पंचायत बम्हनीपुर के प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों ने ग्राम प्रधान सियाराम कमल के नेतृत्व में आवास योजना में मजदूरी का मिलने वाला पंद्रह हजार सात सौ रुपए किन्ही अन्य गांवों के लोगों के दूसरे खातों में डाल कर हड़प लेने की शिकायत की थी। इस के बाद ग्राम पंचायत कुदरैल के ग्रामीणों ने भी इसी तरह से पैसा निकाल लेने की शिकायत की थी। प्रारंभिक जांच में काफी आवासों की मजदूरी दूसरे खातों में डालकर निकाल लेने का खुलासा हुआ है।

ताखा तहसील मे प्रधानमंत्री आवास योजना के निर्माण मे मजदूरी को लेकर घोटाला किए जाने की शिकायतें मिलने के बाद जांच के आदेश जारी कर दिए गए हैं। जांच समिति बना दी गई है जिसकी जांच जल्द ही सामने आएगी। जो शिकायतें सामने आ रही हैं, उनके मुताबिक 2015 से लेकर 2019 के आवास निर्माण में घोटालों का अनुमान है। इसलिए इस अवधि की जांच के आदेश दिए गए हैं।

एक बार फिर से मोदी सरकार में बड़ा घोटाला सामने आया है। मोदी सरकार के दावों की पोल खोल रही यह योजनाए सिर्फ वोट हड़पने और लोगो को बहलाने के लिए निकाली जाती है। मोदी देश में घोटालो में कमी आने की बात करते परन्तु यहाँ तो उन्ही के योजना में एक बड़ा घोटाला हुआ है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved