fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

दलित बारातियों से की मारपीट, दूल्हे को भी घोड़ी से उतारा, झगडे के दौरान दोनों पक्षों के 8 लोग घायल

fracas-with-people-in-Dalit-procession,-the-groom-also-taken-down-from-the-mare,-8-wounded-onboth-sides-during-clashes
(Representational Image) (Image Credits: dnaindia)

मामला लक्ष्मणगढ़ अलवर का है जहाँ पुलिस थाना क्षेत्र के गाँव टोडा में गुरूवार देर रात को दलित समाज की बारात से मारपीट करने और दूल्हे को घोड़ी से उतारने का मामला सामने आया है। सुचना के बाद बड़ी तादाद में पुलिस फोर्स और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस और प्रशासिनक लोगो के मौजूदा स्थिति में दूल्हे को घोड़ी चढ़ाकर शादी संपन्न कराई गई। गाँव में शान्ति बनाये रखने के लिए आरएसी के जवान तैनात किये गए है।

Advertisement

पुलिस थाना के प्रभारी अजीत सिंह का कहना है की क्षेत्र गांव टोडा निवासी हरदयाल ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई की उसकी लड़की विनीता की शादी किशनगढ़बास के गाँव खोहबास निवासी प्रवीण के साथ तय हुई थी। गुरूवार को बारात गाँव टोडा पहुंची थी। गाँव के विद्यालय के पास से बारात की घुड़चढ़ी व चढ़ाई प्रारम्भ हुई। बाराती जोर शोर से गाजे बाजे के साथ चल रहे थे।

जैसे ही बारात गाँव के राजपूत मोहल्ले से गुजरने लगी तभी इन्दर सिंह, गंजन सिंह, राजू सिंह, मुकेश सिंह, नाहर सिंह, आजाद भरत व् भूप सिंह आदि अपने घरो से निकले और जाति वादक शब्दों का उपयोग किया। लाठी डंडे लेकर बारातियों से मारपीट की।

उसके दौरान इन लोगो के घरो से बारातियों पर पत्थरो से हमला किया गया। बाद में दोनों पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई। इसके चलते गाँव में अफरा तफरी मच गयी। मारपीट के चलते दोनों पक्षों के आठ लोग घायल हो गए। बारातियों ने इस घटना की सुचना पुलिस को दी।

सुचना मिलते ही एसएचओ अजीत सिंह बड़सरा मई पुलिस जाप्ते के टोडा पहुंचे और पथराव कर लोगो को रोक कर स्थिति नियंत्रण में की।


इसी बीच एसडीएम अनिल कुमार सिंघल, राजगढ़ डीएसपी ओमप्रकाश किलानिया के अलावा रैणी, कठूमर व् खेड़ली थाना पुलिस का जाप्ता मौके पर पहुंचा। इधर एसएचओ अजीत बड़सरा ने बताया की मामला शांत होने के बाद पुलिस की मौजुदगी में दोबारा घुड़चढ़ी कराई और विवाह कराया गया।

इस लड़ाई के चलते गाँव में तनाव की स्थिति बनी हुई है।  रात में ही गाँव में पुलिस फ़ोर्स व् आरएसी के जवानी की एक टीम भी तैनात की गयी है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved