fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

गाड़ियों पर ब्राह्मण, राजपूत, चौधरी, जाट, गुज्जर लिखवाने वाले अब सावधान, होगी करवाई

Now,-be-careful,-to-write-Brahmins,-Rajputs,-Chaudhary,-Jats,-Gujjars-on-vehicles
(image credits: Zee News)

नोएडा पुलिस आजकल गाड़ियों को ‘जाति मुक्त’ बनाने के अभियान में लगी हुई है. सवर्णो में अपनी जाति को लेकर काफी गुरूर रहता है जिसको अक्सर वह दिखाने के लिए अपने वाहनों पर अपनी जाति को लिखवा लेते है. हमने या आपने अक्सर ऐसी गाड़ियों की भरमार देखी होगी जिसपर जाति वाला स्टीकर लगा होता है. जैसे ब्राह्मण, ठाकुर, राजपूत,चौधरी, जाट, गुज्जर और ना जाने क्या क्या. इसी कड़ी में नोएडा पुलिस ने 7 जुलाई को गाड़ी पर जाति का नाम/सरनेम, नंबर प्लेट के साथ छेड़छाड़, काली पन्नी लगाने वालों पर कार्रवाई की है.

Advertisement

शहर में गाड़ियों पर नंबर प्लेट की जगह अपनी जाति लिखवाने का शौक बढ़ता जा रहा है, पुलिस की कार्रवाई के बाद भी वाहन चालक नंबर प्लेट पर वाहनाें का रजिस्ट्रेशन नंबर डालने के बजाय ब्राह्मण, ठाकुर, जाट और गुर्जर लिखकर सड़कों पर दौड़ा रहे हैं.सवर्णो को अपनी जाति का गुरुर इस कदर छाया हुआ है की वह धड़ल्ले से ट्रैफिक नियमो को तोड़ते है.

नोएडा पुलिस ने एक प्रेस रिलीज जारी करते हुए ढेर सारी तस्वीरें पोस्ट कीं. इन तस्वीरों में बाइक और कारें थीं. जिन पर बहुत सारे जातियों के नाम लिखे हुए थे. जाट, गुर्जर, ब्राह्मण, चौधरी, खान, यादव आदि. किसी ने पार्टी के पोस्टर लगा रखा था तो किसी ने ‘पुलिस’ लिख रखा था. किसी की गाड़ी पर नंबर प्लेट में कलाकारी की गई थी तो किसी में अजीब से डिजाइन बने हुए थे. इन सब पर पुलिस ने ‘ऑपरेशन क्लीन-7’ के तहत कार्रवाई की.

पुलिस ने ऑपरेशन क्लीन-7 के तहत रविवार को शाम 6.30 बजे से रात 10 बजे तक जांच अभियान चलाया गया. इस दौरान करीब 1457 वाहनों के ऐसे नंबर प्लेट हटाए गए जिनके पीछे जाति सूचक, दंबगई वाले वाक्य/शब्द लिखे हों या फिर वे काली या दूषित हो. इस अभियान के दौरान नगर क्षेत्र मे 62 वाहन सीज किया गया और 561 वाहनों का चालान कटा. ग्रामीण क्षेत्र मे 37 वाहन सीज औऱ 295 वाहनों के चालान किए गए. इसके अलावा ट्रैफिक पुलिस ने 601 वाहनों के चालान काटे.

इस पुरे मामले में कुछ लोग गिरफ़्तार भी किए गए. कुछ के पास से चोरी के मोबाइल बरामद हुए. कुछ के पास हथियार भी मिले. शहरी और ग्रामीण, दोनों इलाकों को जोड़कर कुल 99 गाड़ियां ज़ब्त कीं पुलिस ने. 1,457 वाहनों के चालान काटे. 8 लोगों को गिरफ़्तार किया. 67 चोरी के मोबाइल फोन का डिस्प्ले बरामद किया. कुछ ही घंटे चले इस अभियान में हज़ारो की संख्या में गाड़ियों को जब्त कर लिया गया है यह काफी हैरान करने वाला हो की किस तरह से लोग नियमो की धजिया उड़ा रहे है।


नंबर प्लेट मनमर्ज़ी की चीज नहीं होती. कि जैसा चाहा, बनवा लिया. रंग-बिरंगा लगवा लिया. या जाति लिखवा ली या कोई स्लोगन या गाना लिखवा लिया. 8055 नंबर हुआ तो BOSS लिखवा लिया. नंबर प्लेट का बकायदा एक फॉर्मेट होता है. जैसे- दो पहिया और प्राइवेट कार वालों की नंबर प्लेट सफेद रंग की होनी चाहिए. उसके ऊपर लिखा नंबर काले पेंट से लिखा हो. कर्मशल गाड़ियां जैसे ट्रक और टैक्सी की नंबर प्लेट पीले रंग की हो और उसपर लिखे नंबरों का अक्षर काले रंग का हो यही नियम है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved