fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

सोनाक्षी सिन्हा ने वाल्मीकि समाज पर की अभद्र टिप्पणी, गुस्साए लोगो ने की गिरफ़्तारी की मांग

Sonakshi-Sinha's-vulgar-comments-on-Valmiki-society,-angry-people-demands-arrest
(image credits: Images Dawn)

जात-पात को लेकर आजकल समाज में बड़ी उठा-पटक हो रही है। जहाँ समाज जाति-धर्म जैसे मामले को लेकर काफी संवेदनशील है तो वही कई ऐसे लोग है कुछ जाति शब्द को मजाकिया तौर पर इस्तेमाल करते है। ऐसे में यह मज़ाक कुछ लोगो को भारी पड़ जाता है खासतौर पर वह जो बड़ी हस्तियां है। ऐसी ही है खबर सामने आई थी जिसमे बॉलीवुड अभिनेत्री ने जाति में इस्तेमाल होने वाले शब्द को लेकर एक टिप्पणी कर दी थी ।

Advertisement

बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने अपनी नई फिल्म खानदानी शफाखाना की प्रचार के दौरान एक रेडियो शो पर वाल्मीकि समाज को लेकर मजाक किया जिसके चलते वाल्मीकि समाज ने सोनाक्षी सिन्हा के खिलाफ प्रदर्शन कर दिया। दरअसल सोनाक्षी सिन्हा से FM रेडिओ के आरजे सिद्धार्थ कानन ने उनके एयरपोर्ट लुक्स के बारे में पूछा था। उसी का जवाब देते हुए सोनाक्षी सिन्हा ने ‘भंगी” शब्द का इस्तेमाल किया जिसके चलते वाल्मीकि समाज के लोगो को आहत पहुंची और उन्होंने सोनाक्षी के खिलाफ मोर्चा ख़ोल दिया।

देखा जाए तो कभी कभी बड़े अभिनेता और अभिनेत्रियों को अपनी सोच, अपने बोल और अपने शब्दों पर काबू नहीं रहता इसलिए वह कभी भी ऐसे बयान दे देते है जो जाति और धर्म से जुड़े होते है। सोनाक्षी सिन्हा ने भी कुछ इसी प्रकार का काम किया, भले ही वह एक मज़ाकिया तौर पर क्यों हो परन्तु इस्तेमाल किये गए शब्द से वाल्मीकि समाज को आहत पहुंची है।

वाल्मीकि समाज के लोग उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में सड़को पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे है और गिरफ्तारी की मांग भी कर रहे है। वाल्मीकि समाज के लोगो ने कहा है की सोनक्षी सिन्हा की गिरफ्तारी हो और उनकी ककी भी फिल्म सिनेमाघरो में ना लगाईं जाए।

विवाद को बढ़ता देख सोनाक्षी सिन्हा ने ट्वीट करके वाल्मीकि समाज के लोगो से माफ़ी मांगी है। अपने लिए मुसीबत देख सोनाक्षी सिन्हा ने माफ़ी ट्वीट करके कहा की ‘मैं विनम्रतापूर्वक माफी मांगती हूं मेरी टिप्पणियां “अनजाने” और “अन-अपमानजनक” थीं। “और उसका मतलब वाल्मीकि समुदाय के लिए कोई नुकसान नहीं था।


भंगी शब्द का प्रयोग करने पर सोनाक्षी सिन्हा को अब काफी मुश्किलें झेलनी पड़ रही है वही दूसरी और फिल्म अभिनेता आयुष्मान खुराना ने भी इस पर एक ट्वीट कर के अपनी बात सामने रखी है। आयुषमान खुराना ने अपनी हालही में आयी मूवी आर्टिकल 15 का सीन ट्विटर पर डाल कर कहा की, ‘गलती तो किसी से भी हो सकती है, पर हम किसी की तुलना नीची जाति के लोगो से क्यों करते है? क्या इनके खिलाफ यह नजरिया ठीक है ? इसे आज ही बदलना चाहिए।’

देखना यह है अपनी इस गलती की वजह से सोनाक्षी सिन्हा को वाल्मीकि समाज से माफ़ी मिलेगी या फिर उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। ऐसे में सोनाक्षी सिन्हा का माफ़ी वाला ट्वीट वाल्मीकि समाज के लोगो को शांत कर पायेगा या नहीं यह देखना होगा। परन्तु हर उस व्यक्ति को अपने उन शब्द पर काबू रखना चाहिए जिन शब्दों से समाज और जाति समुदाय के लोग निराश हो जाते है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved