fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

छत्तीसगढ़: मायावती जोगी गठबंधन चुनावी रैली के लिए आज उतरेंगे मैदान में, 5 लाख लोगों को जुटाने का दावा

mayawati-jogi-alliance-in-Chhattisgarh
(Image Credits: NewsX)

बहुजन समाज पार्टी चुनाव अभियान की शुरुआत 13 अक्टूबर से करने वाली है। मायावती ने छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन करने का फैसला ले लिया है। इसके लिए मायावती ने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) (जेसीसीजे) के साथ गठबंधन कर लिया है।

Advertisement

बसपा के छत्तीसगढ़ के मुख्य अध्यक्ष ओ. पी. बाजपेयी ने बताया कि,  उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती बिलासपुर में एक रैली को सम्बोधित करेंगी। उन्होंने कहा कि (जेसीसीजे) प्रमुख अजीत जोगी भी रैली में शामिल होंगें।

गठबंधन के अनुसार 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए तथा बसपा 35 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जबकि जेसीसीजे 55 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।अजित जोगी गठबंधन में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगें। बाजपेयी ने कहा, उनके (मायावती) के दौरे के बाद ही 35 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों की घोषणा तय की जाएगी।

 

चुनावों में इसका असर दिखेगा

बसपा अध्यक्ष मायावती शनिवार को छत्तीसगढ़ से विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरने को तैयार है। मायावती और जोगी कांग्रेस की गठबंधन की पहली रैली 13 अक्टूबर को बिलासपुर में बड़ी जनसभा में होने जा रही है। ऐसा पहली बार होगा जब मायावती छत्तीसगढ़ में किसी अन्य पार्टी के साथ राजनितिक मंच साझा करेंगी। मायावती इस रैली के मदद से अपनी चुनावी यात्रा की शुरआत करेंगी।


कहा जा रहा है कि, इस गठबंधन से छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में बाकी पार्टियों पर गहरा प्रभाव पड़ेगा। माना जा रहा है, इस बार कई विधानसभा क्षेत्रों में त्रिकोणीय मुकाबले हो सकते हैं।

 

रैली पर विपक्षी पार्टियों की कड़ी नजर

बसपा इस गठबंधन के साथ बिलासपुर में महारैली के सहारे अपने चुनाव अभियान की शुरआत करेगी। दोनों ही पार्टी के दलों ने काफी संख्या में लोगों को जुटाने का दावा किया है, अनुमान लगाया जा रहा है पार्टियों ने यह संख्या 5 लाख तक बताई है। बाकी विपक्षी पार्टियों की नजर भी इस रैली पर होगी क्योंकि इस गठबंधन का प्रभाव रैली में मौजूद लोगों की संख्या से ही पता चलेगा।

बिलासपुर में रैली की सफलता को देखकर ही छत्तीसगढ़ में अन्य स्थानों पर गठबंधन की सयुक्त रैली का कार्यक्रम तय किया जाएगा। ये चुनाव दोनों पार्टी बसपा और जेसीसीजे के नेताओं के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है। बता दें की छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में 12 नवंबर को 18 सीटों पर पहले चरण के लिए मतदान होंगे। और बाकी बचे 72 सीटों पर 20 नवंबर को चुनाव होंगें। 11 दिसम्बर को मतों की गिनती की जायेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved