fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बीजेपी द्वारा CBI जाँच पर अखिलेश ने किया पलटवार- भाजपा जिस संस्कृति को छोड़कर जा रही है, कल उसको भी यह भोगना पड़ेगा

akhilesh-yadav-counter-attack-on-cbi-probe-says-bjp-has-to-also-suffer-from-this-tradition
(Image Credits: The Asian Age)

अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने कार्यकाल में हुए कथित अवैध खनन मामले में सीबीआई की कार्यवाही के बाद खुद से पूछताछ की आशंका के बारे में रविवार को कहा कि वह सीबीआई को जवाब देने के लिए तैयार हैं, लेकिन बीजेपी यह याद रखें कि वह जिस संस्कृति को छोड़कर जा रही है, कल उसको भी इसका सामना करना पड़ेगा।

Advertisement

अखिलेश यादव ने सवांददाताओं से बातचीत के दौरान खुद पर सीबीआई जाँच पड़ने की आशंका के सवाल पर कहा, ‘‘ सपा इस कोशिश में है कि ज्यादा से ज्यादा लोकसभा सीटें जीते। जो हमें रोकना चाहते हैं, उनके पास सीबीआई है। एक बार कांग्रेस ने सीबीआई जांच करायी थी, तब भी पूछताछ हुई थी। अगर भाजपा यह सब करा रही है और सीबीआई पूछताछ करेगी तो हम जवाब देंगे। मगर जनता भाजपा को जवाब देने के लिये तैयार है।’’

अखिलेश यादव ने कहा,‘‘आखिर सीबीआई छापेमारी क्यों कर रही है। जो पूछना है हमसे पूछ ले, लेकिन भाजपा के लोग यह याद रखें कि जो संस्कृति वे छोड़कर जा रहे हैं, उसका कल उन्हें भी सामना करना पड़ेगा।’’ अखिलेश यादव ने तंज भरे लहजे में कहा कि अब तो सीबीआई को बताना पड़ेगा कि हमने गठबंधन में कितनी-कितनी सीटें आपस में बाटीं हैं। ‘‘मुझे खुशी है इस बात की कि कम से कम भाजपा ने अपना रंग दिखा दिया। पहले कांग्रेस ने हमें सीबीआई से मिलने का मौका दिया था। इस बार भाजपा यह मौका दे रही है।’’

उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि भाजपा ने राजनीतिक शिष्टाचार ही खत्म कर दिया है। भाजपा चाहती है कि जैसा उसका सियासी शिष्टाचार है, वैसा ही दूसरे दलों का भी हो जाए। मगर, हम अपने राजनीतिक शिष्टाचार को नहीं बदलेंगे। उन्होनें कहा, अगर कांग्रेस भाजपा को चोर बोल रही है तो बीजेपी चाहती ही कि हम भी उसे चोर बोलें।

बता दें कि वर्ष 2012 से 2016 के बीच पूर्ववर्ती सपा सरकार के शासनकाल में कथित खनन घोटाला मामले में CBI ने कल 6 जनवरी लखनऊ में आईएएस अफसर बी चन्द्रकला के घर पर छापा मारा था। सीबीआई ने बुंदेलखंड में अवैध खनन के मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए आदेश पर आईएएस अफसर चन्द्रकला सहित 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया था।


साल 2012-2013 में खनन विभाग तत्कालीन मुख़्यमंत्री अखिलेश यादव के पास था। इसी कारण यह माना जा रहा है कि सीबीआई इस मामले में उनसे भी पूछताछ कर सकती है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved