fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया करारा जवाब

Akhilesh-Yadav-gives-reply-to-Prime-Minister-Narendra Modi
(Image Credits: The Indian Wire)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके खिलाफ बनाये गए विपक्षी गठबंधन पर हमेशा कुछ न कुछ आरोप लगाते आये हैं। प्रधानमंत्री हमेशा से गठबंधन को मिलावटी बताते रहते हैं। वहीं विपक्षी पार्टी कभी कभी प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए बयानों का जवाब भी दे देती हैं। इसी प्रकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विपक्षी पार्टी के गठबंधन को मिलावटी बताने पर अखिलेश यादव ने इस बार करारा जवाब दिया है।

Advertisement

दरअसल समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव ने दिल्ली में शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नरेंद्र मोदी पर पलटवार करते हुए कहा कि यह ऐसी मिलावट है कि कौन कहां मिट जाएगा, किसी को नहीं पता. अखिलेश ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में मोदी द्वारा बार—बार विपक्षी गठबंधन को ‘महामिलावट’ बताने सम्बन्धी सवाल पर कहा ”ऐसी महामिलावट है यह, कौन कहां मिट जाएगा किसी को नहीं पता.”

अखिलेश यादव ने आरोप लगाया की केन्द्र और उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार जनता से किये गये वादे निभाने में बुरी तरह नाकाम रही है। इस लोकसभा चुनाव में जनता भाजपा का विद्रोह करेगी। बता दें की शुक्रवार को छत्तीसगढ़ में नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के खिलाफ गंठबंधन बनाने की कोशिशों को लेकर तंज किया था। उन्होंने छत्तीसगढ़ की जनता से कहा था की उन्हें ‘महामिलावट’ के प्रति सावधान रहना चाहिए। मोदी ने कहा की अगर उनकी पार्टी एक बार फिर से सत्ता में है नहीं आ पाती है तो मतदाताओं को इस महामिलावट के प्रति सावधान रहना होगा।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि आज देश का किसान सबसे ज्यादा संकटो से गिरा पड़ा हैं। सरकार ने ना तो उनका कर्ज माफ किया और ना ही उनसे किया गया कोई दूसरा वादा पूरा किया। भाजपा ने किसानों से आलू खरीदने का वादा भी पूरा नहीं किया। और जब किसानो ने इसके विरोध में अपनी उपज को विधानभवन के सामने फेंक दिया तो सरकार ने किसानों पर अंग्रेजों के जमाने की उत्पीड़नात्मक धाराओं में मुकदमे दर्ज कर दिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विपक्षी गठबंधन को किये गए बयान से उनकी मानसिकता का पता चलता है। इस लोकसभा चुनाव में जनता अपना मन बना चुकी है और सरकार को जवाब देने के लिए तैयार भी है। नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने 5 वर्ष के कार्यकाल में भारत की जनता को सिर्फ गुमराह किया है। जितने वादे मोदी सरकार ने सत्ता में आने से पहले किये थे, अगर सरकार उन वादों में से 50 प्रतिशत को भी पूरा कर देती तो, आज देश के लोकतंत्र का माहौल कुछ और ही होता।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved