fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
अन्य

भाजपा क्षेत्र असम में चीन की वजह से बड़ा नुकसान, लाखो लोग हुए प्रभावित

BJP-area-affected-by-huge-loss-due-to-China, millions-affected
(image credits: hindustan times)

भाजपा सरकार के चलते किसी राज्य को महंगाई का सामना करना पड़ रहा है तो किसी राज्य को रोजगार का। भाजपा के वापस सत्ता में आने के बाद एक बार फिर देश को बड़ी कीमत चुकानी पड़ रही है। वहीँ असम में भाजपा की सरकार है जिसकी वजह से लोगो को काफी मुसीबत झेलनी पड रही है। असम में एनआरसी यानि राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर में नाम ना होने की वजह से काफी मुसीबत झेलनी पड़ रही है। वही भाजपा के एनआरसी जारी करने के बाद कई वपक्षी पार्टियों ने बीजेपी पर हमला भी किया था।

Advertisement

परन्तु अब कई लोगो को इससे भ्ही बड़ी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल भाजपा शासित राज्य असम में इन दिनों कोहराम मचा हुआ है। एक ओर लोग जहां एनआरसी की वजह से अधर में लटके हुए हैं वहीं दूसरी ओर भारी बारिश के चलते राज्य में कई इलाकों में बाढ़ आई हुई है। बाढ़ की वजह से राज्य में कई तटंध टूटने के साथ ही सड़कें व पुल बह गए। इसकी वजह ब्रह्मपुत्र नदी में जल का स्तर काफी ज्यादा  बढ़ गया है।

असम के 17 जिलों में बाढ़ आई हुई है। इसकी वजह से 749 गांवों में सवा चार लाख लोग प्रभावित हुए हैं। इसके साथ भूटान व अरूणाचल प्रदेश में भी यही हाल हैं। असम में बाढ़ आने का कारण ब्रह्मपुत्र नदी में जल प्रवाह का अत्याधिक तेज हो गया है । इस नदी का आधे से ज्यादा हिस्सा चीन में हैं जिस वजह से वहां भारी मात्रा में पानी छोड़े जाना भी बाढ़ का एक मुख्य कारण है।

बड़े पैमाने पर बाढ़ आने के कारण असम समेत पूरे पूर्वोत्तर के सभी राज्यों में हाहाकार मचा हुआ है। हालांकि सरकार की ओर से राहत और बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी रखने की बात कही जा रही है। लेकिन गांवों वाले इलाकों में सहायता नहीं पहुंच पा रही और वह सभी भगवान भरोसे हैं।

असम में स्तिथ भाजपा सरकार ने अभी तक कोई बड़ा कदम नहीं उठाया है। लोगो के पास मदद  पहुँचाना मुश्किल हो रहा है। एक तरफ असम के लोगो पर एनआरसी की मार दूसरी तरफ बाढ़ जैसी आपदा से परेशान। ऐसे में भाजपा सरकार क्या बड़ा कदम उठाती है यह तो देखने वाली बात है। परन्तु ऐसा लगता है की पहले से सुरक्षा का इंतजाम ना करने की वजह से इस तरह की मुसीबत सामने आयी है। अगर बाढ़ का अंदेशा लगने के बाद ही लोगो को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया जाता तो  शायद लोगो को अच्छी मदद मिल सकती थी। 


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved