fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

उत्तर प्रदेश में भाजपा विधायक पर गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देने का आरोप

BJP-MLA-in-Uttar-Pradesh-accused-of-threatening-to-kill-by-abusing-and-abusing
(image credits: india today)

बीजेपी नेता अक्सर अपने बयानबाजी से विवादों में घिरते हुए देखे जा सकते है। इसके साथ साथ वह कभी कभी सत्ता की आड़ में आकर किसी भी अधिकारी के साथ कोई भी व्यवहार करने से नहीं चूकते है। हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश के बैरिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह की। दरअसल उन पर एक अधीक्षण अभियंता ने जान से मारने के आरोप लगाए है।

Advertisement

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह द्वारा एक विद्युत वितरण के अधीक्षण अभियंता रामकिशोर को धमकाने का मामला आया है। दरअसल रामकिशोर ने बीजेपी नेता पर आरोप लगाया है की, उन्होंने (जेई) जूनियर इंजीनियर का तबादला न करने पर शहर कोतवाली में उन्हें जान से मारने की धमकी दी है।

इस मामले में विद्युत वितरण के अधीक्षण ने बीजेपी नेता के खिलाफ जान से मारने की तहरीर दी है। राम किशोर ने आरोप लगाया है कि वह मेरी हत्या भी करवा सकते हैं। सीओ सिटी एके सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है, मामला सही पाया गया तो बैरिया विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

बताया जा रहा है की अभियंता की शिकायत के अनुसार बीजेपी विधायक फोन करके अवर अभियंता कमलेश का स्थानांतरण करने का दबाव बना रहे थे। ऐसा नहीं करने पर उन्होंने जानमाल की धमकी दी। अधीक्षक अभियंता ने विधायक से अपनी बातचीत को रिकॉर्ड कर लिया और अपने शिकायती पत्र की प्रति बिजली विभाग के साथ ही प्रशासनिक तथा पुलिस अधिकारियों को भी ऑडियो क्लिप सहित भेजा है। बता दें की बीजेपी विधायक ने धमकी के दौरान अपशब्द का भी इस्तेमाल किया, जो की बेहद निंदनीय है।

वहीँ इस मामले में बीजेपी नेता सुरेंद्र सिंह का कहना है की क्षेत्र में जल गए 13 ट्रांसफार्मरों को बदलने के लिए मैंने अपनी निधि से धनराशि दी थी लेकिन बैरिया में तैनात जेई ने एक भी ट्रांसफार्मर नहीं बदलवाया। वह किसी का फोन तक नहीं उठाता है। उसके स्थानांतरण के लिए मैंने अधीक्षण अभियंता से निवेदन किया था। मैं जनता का सेवक हूं, जनता के लिए काम नहीं करूंगा तो किसके लिए करूंगा लेकिन अधीक्षण अभियंता ने उल्टे मुझ पर ही धमकी देने का आरोप लगा दिया, जो पूरी तरह मिथ्या है। डीएम से मिलकर आज जेई कमलेश का स्थानांतरण करवा दिया है।


बीजेपी नेता द्वारा किसी अधिकारी के साथ इस प्रकार का वयवहार बिलकुल भी उचित नहीं है। अक्सर राज्य की बीजेपी सरकार प्रदेश में कानून वयवस्था और अनुसाशन की बातें करती है, लेकिन जब उनकी ही पार्टी के नेता आम लोगो के साथ इस प्रकार से पेश आएंगे तो ,अनुसाशन कहाँ से देखने को मिलेगा।

खैर अब देखना यह होगा की विधायक सुरेंद्र सिंह पर आरोप शाबित होने के बाद राज्य सरकार उनपर किस प्रकार कार्रवाई करेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved