fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

BJP सांसद ने अपनी ही पार्टी की करी आलोचना, JDU से गठबंधन को बताया स्वार्थ

BJP-MPs-criticism-of-their-own-party,-coalition-to-JDU-told-selfishness
(image credit: New Indian Express)

NDA की सरकार में सब कुछ ठीक नहीं दिखाई दिख दे रहा है। अभी हाल ही में JDU प्रमुख नितीश कुमार ने तीन तलाक मामले में बीजेपी द्वारा लाये गए बिल का विरोध किया था। और इसके साथ ही अभी कुछ दिनों पहले नितीश कुमार ने दिल्ली में होने वाले चुनाव में बीजेपी से अलग होकर लड़ने का निर्णय भी लिया। देखा जाये तो कुछ एक महीनो से दोनों पार्टियों में किसी न किसी मुद्दे को लेकर तकरार देखने को मिल रहा है।

Advertisement

वही अब बीजेपी के कुछ नेताओ द्वारा बिहार में उनके गठबंधन पार्टी को लेकर बड़ा बयान सुनने को मिल रहा है। हम बात करने जा रहे है बीजेपी सांसद नारायण सिंह की, जिन्होंने हाल ही में बिहार सरकार को लेकर हैरान करने वाला बयान दिया है।

सांसद गोपाल नारायण सिंह ने JDU पर निशाना साधते हुए कहा की , बीजेपी व जेडीयू का गठबंधन सिर्फ को स्‍वार्थ के लिए है। साथ ही, कहा कि यह समझौता सत्ता के लिए हुआ है। बता दे की गोपाल नारायण सिंह बुधवार (3 जुलाई) को भी जेडीयू के खिलाफ बयानबाजी की थी। उस समय उन्होंने कहा था कि लालू और नीतीश राज में कोई फर्क नहीं है। बीजेपी सांसद के इस बयान पर जेडीयू ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है

वही इस मामले में JDU के राष्‍ट्रीय महासचिव केसी त्‍यागी ने भाजपा सांसद के बयान पर जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि लोग हमारी ताकत जानते हैं। जेडीयू जब आरजेडी के साथ थी, तब पार्टी ने उसके साथ मिलकर सरकार बनाई थी। और उस दौरान बीजेपी 54-55 सीटों पर सिमट गई थी। अब जेडीयू व बीजेपी दोनों ने साथ मिलकर 40 में से 39 सीटें हासिल किये हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा, गठबंधन पीएम नरेंद्र मोदी, मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने किया है, इसलिए गोपाल नारायण सिंह की बात पर टिप्‍पणी करना जरूरी नहीं है।

बीजेपी सांसद द्वारा अपने सहयोगी पार्टियों के लिए इस प्रकार की बयानबजी करना उचित नहीं है। इस प्रकार की बयानबाजी से लगता है की मौजूदा सरकार में कुछ लोगो को बीजेपी के सत्ता में होने का कुछ ज्यादा ही गुरुर है। उन्हें यह समझना चाहिए की लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिलने वाले इस बड़े बहुमत के पीछे उनके सहयोगी पार्टियों का भी बराबर योगदान रहा है।


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved