fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

दलित एक जाति नहीं होती, हनुमान को दलित बताना मुझे अनुचित नहीं लगता : अमित शाह

Dalit-is-not-a-caste,-I-do-not-feel-inadequate-to-call-Hanuman-a-Dalit:-Amit Shah
(Image Credits: The Wire)

अमित शाह ने कहा कि योगी आदित्यनाथ द्वारा हनुमान को दलित बताना अनुचित नही है। उन्होनें हनुमान का वर्णन किया है वही इसको सही तरीके से बता पायेंगे। अमित शाह ने कहा दलित एक जाति नहीं होती। मीडिया उसे गलत तरह से दिखा रहा है। अगर मीडिया को अनुचित लगता है तो उन्हें योगी जी से पूछना चाहिए।

Advertisement

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पंचायत राजस्थान के कार्यक्रम में हनुमान के दलित आदिवासी होने के सवाल पर कहा कि, ” हनुमान दलित हैं जैसी टिप्पणी मुझे अनुचित नहीं लगती, आपको योगी से पूछना चाहिए. उन्होंने रामायण के एक पक्ष को अपने हिसाब से बताया है.”

योगी एक बड़े सूबे के मुख्यमंत्री हैं उन्होनें हनुमान का वर्णन किया है वो बेहतर पता पायेंगे। उन्होंने कहा कि दलित जाति नहीं होती है मीडिया उसे गलत तरह से दिखा रहा है। यदि मीडिया को अनुचित लगता है तो उन्हें योगी आदित्यनाथ से पूछना चाहिए।

सही हुआ अर्थशास्त्री देश के मुख्यमंत्री नहीं है

अमित ने पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविन्द सुब्रमण्यम के नोटबंदी डिजास्टर बयान को लेकर कहा कि अच्छा है कि एक अर्थशास्त्री देश का वित्तमंत्री नहीं है, वरना देश का कुछ भी हो सकता था।


शाह ने कहा कि नोटबंदी को डिजास्टर कहना उनका विचार था। अच्छा हुआ कि वो वित्तमंत्री नहीं है। नहीं तो गलत फैसले ले लेते। वित्तमंत्री बड़ा या फिर आर्थिक सलाहकार यह हमें समझना चाहिए।

पाकिस्तान पर बोले अमित शाह

भारत पाकिस्तान के बीच करतारपुर साहेब को कॉरिडोर ऑफ़ पीस के रूप में रखने के सवाल पर अमित शाह ने कहा यदि पाकिस्तान में आर्मी और सरकार साथ है तो कभी शांति हो नहीं सकती। पाकिस्तान अगर शांति चाहता है तो उसे आतकंवाद को बढ़ावा देना बंद करना होगा। यदि ऐसा होता है तो शांति अपने आप ही बहाल हो जाएगी।

अमित शाह ने नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधा। उन्होनें कहा कि सिद्धू को यह पता ही नहीं है कि वो कहाँ खड़े हैं। इसी कारण वो राहुल गाँधी के साथ चले गए। यही कारण है की उनके साथ खालिस्तान का आतंकी खड़ा था।

कांग्रेस ने छोड़ दिया था करतारपुर साहेब

कांग्रेस ने बटवारें का समय से करतारपुर साहेब को छोड़ दिया था। सिर्फ चार किलोमीटर गांव दूर होने के बावजूद कांग्रेस उसके लिए रास्ता खोल नहीं पाई। कांग्रेस सोती रही एक गांव को भारत में शामिल नहीं पर पाई।

सिख श्रद्धालु करतारपुर साहेब को पूजते है, लेकिन कांग्रेस ने यह बात कभी नहीं समझी इसलिए हमने पाकिस्तान से बात करके करतारपुर साहेब के लिए रास्ता खोल दिया। शाह ने कहा कि हैं हम सिर्फ राजनीति नहीं कर रहे हैं। बीजेपी की करतारपुर साहेब के प्रति श्रद्धा है। मैं भी वहां जाऊंगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved