fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

IAS ने मोदी सरकार को कहा तानाशाह, तो बीजेपी सांसद ने IAS पर दिया शर्मानक बयान

IAS-calls-the-Modi-government-a-dictator,-then-BJP-MP-gives-shameful-statement-on-IAS
(image credits; the financial express)

घाटी से विशेष दर्जा हटाने पर विपक्षी पार्टियों के साथ साथ कुछ बड़े अधिकारीयो ने भी केंद्र सरकार का विरोध किया। हाल ही में केरल में 2012 बैच के प्रसाशनिक अधिकारी आईएएस कन्नन गोपीनाथ ने इस्तीफ़ा दिया। दरअसल वह जम्मू कश्मीर में शाह फैजल के इस्तीफे से भी नाराज थे।

Advertisement

कुछ इसी तरह जम्मू कश्मीर मामले को लेकर लगातार सरकार पर कई सवाल खड़े किये गए साथ ही सरकार पर गंभीर आरोप भी लगाया गए। इसके साथ साथ मौजूदा सरकार के लोग भी इन सवालों को खड़े कर रहे लोगो के खिलाफ कोई भी बयानबाजी करने से पीछे नहीं हट रहे।

हाल ही में एक आईएएस अफसर ने केंद्र द्वारा आर्टिकल 370 हटाए जाने पर मोदी सरकार को तानाशाह कहा था और नौकरी छोड़ दी थी। वही इसके जवाब में बीजेपी नेता ने उसपर गंभीर आरोप लगा डाला है। उत्तर कन्नड़ से सांसद और बीजेपी नेता अनंत कुमार हेगड़े ने रविवार को उस आईएएस पर निशाना साधा, और उसे एक और पेड गद्दार कह दिया। साथ ही उन्होंने उनके पास ऐसा बोलने की आजादी की भी बात कही।

ट्वीट करते हुए हेगड़े ने लिखा, ‘‘अगर यह युवक केंद्र सरकार को तानाशाह कहता है तो हमें उसे एक और पेड गद्दार कहने की आजादी है। वह अपने असली पेमास्टर्स के इशारों पर नाच रहा है। इस मसले पर बहस होनी चाहिए।’’

बताया जा रहा है कि हेगड़े ने ट्वीट के माध्यम से कर्नाटक के आईएएस अफसर सेंथिल पर निशाना साधा, जिन्होंने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के विरोध में शुक्रवार (6 सितंबर) को इस्तीफा दे दिया था। साथ ही, इसकी वजह भी बताई थी। सेंथिल ने केंद्र सरकार के इस फैसले को ‘तानाशाही रवैया’ करार दिया था।


इतना ही है बीजेपी सांसद ने उस अफसर को बर्खास्त करने की भी मांग कर डाली, उन्होंने ट्वीट में सीएम बीएस येदियुरप्पा को टैग करते हुए लिखा, ‘‘राज्य सरकार को यह एहसास होना चाहिए कि केंद्र सरकार के प्रति दूषित मानसिकता वाले इस अफसर को उन्हें बर्खास्त कर देना चाहिए था। ऐसा नहीं किया गया, जिसके चलते उसने देश के खिलाफ विश्वासघात किया।’’

आपको बता दे इस्तीफा देने वाले कर्नाटक के आईएएस अफसर ने इस्तीफे में एक चिट्ठी भी लिखी थी। जिसमे उन्होंने लिखा, ‘‘लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। मुझे एहसास हो रहा है कि आने वाले दिन देश के लिए काफी चुनौतीपूर्ण होंगे। ऐसे में सभी के जीवन को देखते हुए आईएएस की नौकरी छोड़ना ही बेहतर रहेगा।’’

बीजेपी सांसद द्वारा आईएएस को लेकर इस प्रकार की टिप्पणी करना बिलकुल भी उचित नहीं है। देखा जाये तो भाजपा में पार्टी के निर्णयों पर सवाल खड़े कर देना या सरकार पर कोई बयानबाजी करने वालो के खिलाफ इसी प्रकार का व्यव्हार किया जाता है। जो की निंदनीय है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved