fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

सदन में बीजेपी सांसद रवि किशन ने भोजपुरी गीत गाने की करी कोशिश, स्पीकर ने जताई असहमति

In-the-house,-BJP-MP-Ravi-Kishan-tried-to-sing-Bhojpuri-song; -Speaker-expressed-disagreement
(image credits: Times of India)

बीजेपी सांसद और भोजपुरी स्टार रविकिशन को संसद में गीत गाने से शर्मिंदा होना पड़ा। जब उन्हें स्पीकर ओम बिड़ला ने संसद में उनकी बात रखते हुए गाने से रोक दिया। लगता है बीजेपी सांसद शायद यह भूल गए थे कि वह संसद में है। दरअसल सोमवार (1 जुलाई, 2019) को रवि किशन ने लोकसभा में भोजपुरी भाषा को संविधान की आठवीं अनुसुची में शामिल करने की मांग की।

Advertisement

अपनी बात रखने के दौरान ही उन्होंने भोजपुरी गीत गाना शुरू कर दिया। तो लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने उन्हें बीच में ही रोकते हुए कहा कि आप सिर्फ अपनी बात रखिए। सदन में शून्यकाल के दौरान रवि किशन ने अपनी बात रखते हुए कहा कि देश में करीब 25 करोड़ लोग भोजपुरी बोलते और समझते हैं। मॉरीशस में इसे दूसरी राष्ट्रभाषा का दर्जा मिला हुआ है। कई कैरेबियाई देशों में भोजपुरी बोली जाती है।

उन्होंने आगे कहा, लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार की एक सभा में भोजपुरी में जनता का अभिवादन किया तो लोगों को लगा अब भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल कर लिया जाएगा।

इसी दौरान सांसद रवि किशन ने भोजपुरी गीत गाना शुरू कर दिया। इस पर लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने उन्हें बीच में रोकते हुए कहा, ‘आप सिर्फ अपनी बात रखिए।’ देखने वाली बात यह है की जब उन्होंने भोजपुरी को आठवीं सूची में शामिल करने के लिए अपनी बात रखी तो सत्तापक्ष के साथ साथ विपक्षी दलों ने भी उनका समर्थन किया।

आपको बता दें भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में 22 भाषाएं शामिल हैं। इसमें असमिया, बंगाली, गुजराती, हिंदी, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, ओडिया, पंजाबी, संस्कृत, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दू, बोडो, संताली, मैथिली, और डोगरी जैसी भाषाएं हैं।


वहीं इसी दौरान सदन में बाकी सदस्यों ने भी अपनी मांगे रखी। इसी प्रकार दार्जिलिंग से बीजेपी लोकसभा सदस्य राजू बिस्ता ने अपने क्षेत्र में पुलिस उत्पीड़न का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इस बारे में तथ्यान्वेषी समिति गठित की जाए और गोरखा लोगों को न्याय मिले। दूसरी ओर विपक्षी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा की, उनकी पार्टी गोरखालैंड राज्य की मांग का विरोध करती है।

इनकी ही तरह बीजेपी के नेता रमेश धागुक ने भी अपना विषय रखा। उन्होंने पोरबंदर हवाई अड्डे का नाम कस्तूरबा गांधी हवाई अड्डा के नाम से करने को कहा।

बीजेपी सांसद रवि किशन द्वारा सदन में गीत गाना व्यवहारिक नहीं लगता। और हाँ जहां तक भोजपुरी को आठवीं अनुसुची में शामिल करने की बात है, उसके बारे में हम कोई टिप्पणी नहीं करना चाहेंगे। रवि किशन को समझना चाहिए की वह अब एक अभिनेता कम और नेता अधिक है। और सदन जैसे महत्वपूर्ण स्थान पर में उनके द्वारा गीत गाना सदन और उनके पद को भी शोभा नहीं देता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved