fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

मध्य प्रदेश: डीएम ने जूनियर महिला अधिकारी से कहा- एसडीएम बनना है तो कैसे भी करके बीजेपी को जिताओ,

Madhya-Pradesh-dm-told-junior-lady-officer-if-you-want-to-become-sdm-help-bjp-to-win-in-any-situation
(Image Credits: Bihar News)

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान कलेक्टर अनुभा श्रीवास्तव का एक कथित व्हाट्सऐप चैट इन दिनों खासा वायरल हो रहा है. इस चैट में अनुभा अपनी जूनियर अधिकारी पूजा तिवारी से भाजपा को जीताने की बात कर रही है।

Advertisement

इसके साथ-साथ वह कह रही है की अगर चुनाव के बाद यदि तुम्हें तुरंत ही एसडीएम का चार्ज संभालना है तो किसी भी तरह बीजेपी को जिताओ। उन्होंने चैट में पूजा तिवारी से कहा कि ”मुझे कांग्रेस क्लीन स्वीप चाहिए. मैं आरओ डेहरिया को फोन कर देती हूं. पूजा तुम्हें अगर एसडीएम का चार्ज लेना है तो जैतपुर में बीजेपी को विन कराओ.’

इसके जवाब में पूजा तिवारी ने अनुभा को ‘ओके मैम’ लिखा। साथ ही पूजा ने कहा कि ‘मैं मैनेज करती हूं बट कोई इंक्वायरी तो नहीं होगी.’ इस पर अनुभा ने उसे भरोसा दिलाया यदि तुम मेहनत कर रही हो तो बीजेपी गवर्नमेंट बनते ही तुम्हें एसडीएम का चार्ज मिलेगा।

बता दें कि अनुभा शहडोल पूजा तिवारी की कलेक्टर हैं।  पिछले वर्ष के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बीजेपी की तुलना में ज्यादा सीटें मिली थी. इसके बाद ही उसने सपा-बसपा जैसी पार्टियों के समर्थन से राज्य में अपनी सरकार बनाई।

वहीं डिप्टी कलेक्टर पूजा तिवारी ने इस चैट को फर्जी बताया है और कोतवाली थाने में इसकी एफआईआर दर्ज करवा दी है। उन्होंने कहा, ‘मेरा और कलेक्टर मैडम के नाम से किसी ने ग़लत मैसेज व्हाट्सऐप में चलाया उसकी हमें जैसे ही पता चला फौरन उसकी एफआईआर मैंने कोतवाली थाने में करवा दी. ऐसा कुछ हुआ ही नहीं, वो फोन नंबर भी फर्ज़ी था. जो हमारा ग्रुप है डिप्टी कलेक्टर का उसमें भी ये मैसेज गया सीधे… उन्होंने मुझे कहा पूजा देखो ये क्या हो रहा है तो हम सबने चर्चा करके एफआईआर करवाई. मैडम ने भी सारे वरिष्ठ अधिकारियों को ये बताया. मेरी छवि ख़राब करने के लिये ये मैसेज चला रहे हैं.’


इस मामले में जिले के एसपी कुमार सौरभ ने बताया, ‘डिप्टी कलेक्टर ने शिकायत कराई कि पिछले कुछ दिनों से उन्हें अंजान नंबर से अश्लील मैसेज आ रहे हैं। किसी अज्ञात व्यक्ति द्बारा उनके फोन को हैक करके दुष्प्रचार किया गया, झूठे चैट को प्रचारित करके उन्हें बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है। इस मामले में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार में कमलनाथ मुख्यमंत्री है। कांग्रेस के राज्य में सरकार आने के कुछ समय बाद ही विवाद तब शुरू हो गया था जब कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्य प्रदेश में सरकार में श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने अधिकारियों व कर्मचारी को लेकर एक बयान दिया। उन्होंने कहा था कि जो भी अधिकारी या कर्मचारी काम नहीं करेगा,उसे लात मारकर बाहर कर देंगे। मंत्री के इस बयान का वीडियो वायरल हो गया था। मंत्री सिसोदिया अपने विधानसभा क्षेत्र बमोरी के हिनोतिया गांव पहुंचे थे।

हिनोतिया पहुंचकर उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से कहा था कि मैं कैबिनेट मंत्री नहीं बना, बल्कि बमोरी का हर आदमी, हर कार्यकर्ता कैबिनेट मंत्री है. आपको कोई परेशानी नहीं आएगी. कोई भी काम हो तो अधिकारी को फोन करो, जो नहीं सुने, उसके बारे में मुझे बताओ. मैंने बैठक में कह दिया है. अगर कोई अधिकारी या कर्मचारी काम नहीं करेगा तो उसे लात मारकर बाहर कर देंगे.’

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved