fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

मायावती से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव, एक भी सीट नहीं जीत पाएगी भाजपा, सपा बसपा गठबंधन से जताई ख़ुशी

On-the-birthday-of-Mayawati,-the-oath-of-bspa-workers's,-will-make-the-Prime-Minister-to-Bahen-Ji-preparation-has-started-at-a -large-level.
Image Credits: Deccan Chronicle)

सपा बसपा गठबंधन के बाद उत्तर प्रदेश के राजनीति में सियासी तेज हो गई है। आरजेडी प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लाल प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव रविवार की शाम लखनऊ पहुंचे। देर शाम को तेजस्वी यादव मायावती से मुलाकात करने भी पहुंचे।

Advertisement

इस दौरान तेजस्वी यादव ने सपा और बसपा के गठबंधन पर ख़ुशी जताई और कहा की उत्तर प्रदेश में भाजपा एक भी सीट हासिल नहीं कर पाएगी। आरजेडी यादव नेता तेजस्वी यादव ने कहा अब भाजपा का यूपी और बिहार से सफाया हो जाएगा। यूपी में भाजपा एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। मायावती से हमें मार्गदर्शन मिले, हम यही चाहते हैं। इनसे हमें सीखने का मौका मिलता है। सपा-बसपा गठबंधन से लोगो में ख़ुशी है।

उन्होनें कहा, ”आज ऐसा माहौल है जहां वे बाबा साहेब के संविधान को मिटाना चाहते हैं और ‘नागपुर कानूनों’ को लागू करना चाहते हैं. लोग मायावती जी और अखिलेश जी द्वारा उठाए गए कदम का स्वागत करते हैं. यूपी और बिहार में बीजेपी का सफाया हो जाएगा. वे यूपी में 1 सीट भी नहीं जीत पाएंगे, सभी सीटें सपा-बसपा गठबंधन को मिलेंगी.’

इस मुलाकात से पूर्व तेजस्वी यादव ने मीडया से बात करते हुए कहा था कि हम मायावती और अखिलेश यादव से शिष्टाचार मुलाकात करने आये हैं। सबसे छोटे हैं हम और सबका आशीर्वाद लेने आये हैं। उन्होनें कहा लालू जी ने भी यही कल्पना करी थी कि उत्तर प्रदेश में भी महागठबंधन हो, मायावती और अखिलेश यादव मिलकर चिनाव लड़ें।

तेजस्वी ने कहा की जिस भाजपा द्वारा देश में जिस तरह अघोषित इमरजेंसी लगाई गई है। संविधान से छेड़छाड़ की जा रही है और आरक्षण को खत्म करने की कोशिश करी जा रहा है। संवैधानिक संस्थानों पर तानाशाही की जा रही है जो काम आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था वो काम मोदी जी कर रह रहे हैं।


तेजस्वी यादव ने कहा हमारी मोदीजी जी से कोई लड़ाई नहीं है सिर्फ विचारों और सिद्धांतों की लड़ाई है जिसको हैं सभी साथ मिलकर लड़ेंगे। उन्होनें कहा कि लालू जी आज इसलिए जेल में है, क्योंकि उन्होनें मोदी जी के सामने घुटने नहीं टेके। हमारी जब मूछ नहीं आई थी तब हम पर केस करा दिया गया था।

शनिवार को मायावती और अखिलेश यादव ने एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सपा बसपा के गठनबंधन का ऐलान कर दिया था। दोनों पार्टियां 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। कांग्रेस के लिए अमेठी और रायबरेली की सीटें छोड़ दी गई है जबकि दो सीटें छोटे दलों के लिए आरक्षित की गई हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved