fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बीजेपी यूथ विंग ने AMU कैंपस में मंदिर निर्माण के लिए मांगा जमीन, नहीं दी तो जहां जगह होगी वहीं मूर्ति स्थापना करने की बात कही

the-bjp-youth-wing-demanded-land-for-the-construction-temple-in-the-amu-campus-otherwise-wherever-the-place-will-be-found-the-statue-will-be-established
(Image Credits: The Week)

बीजेपी यूथ विंग ने कैंपस के अंदर अपने धर्मनिरपेक्ष चरित्र को लागू करने के लिए कुलपति को पत्र लिखकर कहा कि मंदिर निर्माण के लिए कैंपस में जमीन उपलब्ध कराई जाये।

Advertisement

बीजेपी के यूथ विंग की तरफ से AMU के VC को पत्र लिखा गया है। इस पत्र में VC से AMU परिसर में मंदिर बनाने के लिए जमीन मांगी गई है ताकि AMU की छवि को धर्मनिरपेक्ष किया जा सके।

इस बारे में भाजपा के यूथ विंग के जिला अध्यक्ष मुकेश सिंह लोधी ने कहा कि AMU के छात्र कैंपस में मंदिर बनाने की मांग काफी समय से कर रहे हैं। उन लोगों ने पहले भी VC से इस बारे में कहा था लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया। ऐसा न होने पर उन्होंने campus में अपने अनुसार किसी भी स्थान पर मूर्ति स्थापना कर देने की चेतावनी भी दी है। लोधी ने कहा, ‘अगर 24 फरवरी तक वीसी ने हमें जमीन नहीं दी तो हमें कैंपस में जहां जगह मिलेगी, वहां हम मूर्ति स्थापना कर देंगे।’

AMU में campus में मंदिर निर्माण का यह मामला नया नहीं है, इससे पहले भी पिछले साल दिसंबर में, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में LLM छात्र और अलीगढ़ के भाजपा विधायक दलवीर सिंह के पोते अजय सिंह ने campus में सरस्वती मंदिर बनाने की मांग की थी।

वहीँ इस मामले में यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता सैफी किदवई ने कहा कि उन्हें बीजेपी यूथ विंग की तरफ से कोई भी आधिकारिक पत्र नहीं मिला है। उन्होंने बीजेपी यूथ विंग की इस मांग को राजनीतिक करार दिया है, और साथ ही AMU के बारे में कहा, यह एक शैक्षिक संस्थान है।


इस बारे में AMU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने 2015 में यह आदेश दिया था कि मंदिर हो या मस्जिद, कोई भी धार्मिक construction शैक्षिक संस्थानों में नहीं होगा। इसके साथ साथ बने हुए मंदिर या मस्जिद को नहीं गिराया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार पहले अयोध्या के राम मंदिर मुद्दे को सुलझाएं, इसके बाद में AMU Campus में मंदिर बनाने की बात करें।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved